संवाद सहयोगी, बरवाला : पाबड़ा गांव में संदीप की मौत के मामले में पुलिस चार आरोपियों का पॉलीग्राफी पॉलीग्राफी टेस्ट करवाएगी। पुलिस ने चार आरोपियों का पॉलीग्राफी टेस्ट करवाने के लिए अदालत से अनुमति ली है। अदालत ने पुलिस को निर्देश दिया है कि वह इस मामले में चारों सुमन, राजकुमार, लालचंद और राजेश का एफएसएल मधुबन में नियमानुसार पॉलीग्राफी टेस्ट करवाएं, वहीं चारों आरोपियों ने भी अदालत में कहा कि उन्हें टेस्ट कराने में कोई एतराज नहीं है। अदालत में इस संदर्भ में एक एप्लीकेशन लगाई गई थी। डीएसपी बरवाला जयपाल ¨सह ने बताया कि पाबड़ा गांव में जिस व्यक्ति की मौत को कथित रूप से मर्डर बताया जा रहा है। उसके मर्डर का कोई प्रमाण अब तक नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि इस मामले में एक माह के बाद एफआईआर रजिस्टर्ड करवाई गई। मृतक की कोई पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी नहीं है। उसकी डेड बॉडी की फोटो तक नहीं है। उसकी मृत्यु के उपरांत पुलिस को कोई सूचना नहीं दी गई। इसका कोई आई विटनेस या कोई गवाह नहीं है। इसलिए अब आरोपियों का पॉलीग्राफी टेस्ट कराने के लिए अनुमति ली है। अब चारों का पॉलीग्राफी टेस्ट मधुबन में कराया जाएगा। थाना प्रभारी मनोज कुमार ने बताया कि अदालत से मिली अनुमति को एफएसएल मधुबन में भेजा जाएगा वहां से टेस्ट की तारीख निश्चित होगी और टेस्ट कराया जाएगा। रैली के विरोध में महिलाओं व पुरुषों ने काले झंडे लेकर शहर में किया प्रदर्शन वहीं दूसरी तरफ पाबड़ा संघर्ष समिति ने संदीप की कथित संदिग्ध मौत मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर बृहस्पतिवार को डीएसपी कार्यालय के समक्ष तीसरे दिन भी कुलदीप भुक्कल के नेतृत्व में धरना जारी रखा। शहर में भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैली के विरोध में महिलाओं व पुरुषों ने काले झंडे लेकर शहर में प्रदर्शन किया और अग्रसैन चौक पर भी नारेबाजी की। इस दौरान नरेश पेंटर ने कहा कि पीड़ित परिवार में से एक घर गांव से पलायन कर चुका है अगर आरोपियों को जल्दी गिरफ्तार नहीं किया तो और परिवार भी पलायन पर मजबूर होंगे।