बहादुरगढ़, जेएनएन। आंदोलन स्थल पर गए कसार निवासी मुकेश मुदगिल को पेट्रोल छिड़ककर जिंदा जला देने के मामले में गिरफ्तार आरोपित कृष्ण पंजेठा को पुलिस ने शुक्रवार को स्थानीय अदालत में पेश किया। उसे एक दिन के रिमांड पर सौंपा गया। उससे पूछताछ के बाद पुलिस ने खुलासा किया है कि मुकेश मुदगिल को जलाकर मार डालने की वारदात को आरोपित ने स्वीकार कर लिया है। वारदात में चार आरोपित शामिल थे। अन्य तीन आरोपितों के बारे में पता किया जा रहा है। सेक्टर-छह थाना प्रभारी जयभगवान ने बताया कि आरोपित कई दिनों से किसान आंदोलन में शामिल था और मृतक भी आंदोलन स्थल पर आता था।

घटना वाली रात मृतक मुकेश ने कृष्ण, संदीप और दो अन्य आंदोलनकारियों के साथ बैठकर शराब पी रहे थे। इसी दौरान मृतक ने किसान आंदोलन को लेकर कुछ टिप्पणी कर दी। यह कृष्ण व अन्य को नागवार गुजरी। इसके बाद गुस्से में आरोपितों ने इस घटना को अंजाम दिया। सेक्टर छह थाना प्रभारी जयभगवान ने बताया कि वारदात के अन्य तीन आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास भी किए जा रहे हैं। इनमें से कृष्ण के अलावा संदीप की पहचान हुई है।

वह जींद के निरजन गांव रहने वाला बताया गया है। अन्य दो के बारे में अभी पता किया जा रहा है। एसएचओ ने बताया कि मुख्य आरोपित कृष्ण को रिमांड पर लेकर इस घटना के बारे में और भी जानकारी व सुबूत जुटाए जा रहे हैं। घटनास्थल के नजदीक स्थित पेट्रोल पंप से भी सीसीटीवी फुटेज जुटाने की कोशिश चल रही है। एसएचओ ने बताया कि मुकेश की मौत से पहले अस्पताल में लोगों द्वारा बनाई गई वीडियो को भी जांच में सुबूत के तौर पर शामिल किया गया है। पुलिस का कहना है कि आरोपितों की पहले से मृतक मुकेश के साथ कोई रंजिश नहीं थी।

Edited By: Manoj Kumar