सांपला (रोहतक) जेएनएन। दुष्‍कर्म की खबरें सामने आना आम बात है। कई दफा दुष्‍कर्म के झूठे केस दर्ज करवाने के मामले भी सामने आते हैं। मगर रोहतक जिले में एक ऐसा मामला सामने आया है। जिसे जानकार आप हैरान हो जाएंगे। दरअसल हसनगढ़ के पास लूट और पति के सामने ही महिला से सामूहिक दुष्कर्म का मामला जांच में फर्जी निकला।

हालांकि बाइक सवार दो आरोपितों ने महिला पर कमेंट किया था, उसके साथ न लूटपाट हुई और न ही सामूहिक दुष्कर्म किया गया। दंपती ने राहगीरों के कहने पर इसलिए फर्जी कहानी रची थी ताकि पुलिस जल्दी मौके पर पहुंचे और ठोस कार्रवाई करे। महिला ने मजिस्ट्रेट के सामने दिए बयान में यह सच्चाई बयां की। अब पुलिस को गुमराह करने के आरोप में दंपती पर भी केस दर्ज किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि खरखौदा निवासी युवक शनिवार देर शाम अपनी पत्नी के साथ सांपला से बाइक पर घर लौट रहा था। युवक ने पुलिस को सूचना दी कि बाइक सवार तीन आरोपितों ने उनका रास्ता रोककर लूटपाट की और उसकी पत्नी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। इस पर सांपला पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की। रविवार को भी डीएसपी नरेंद्र कादियान और एफएसएल टीम ने मौके पर पहुंचकर सबूत जुटाए थे।

पहले दी थी लूट की सूचना

डीएसपी नरेंद्र कादियान ने बताया कि जांच में पता चला है कि महिला अपने पति के साथ जा रही थी। इसी बीच पीछे से बाइक पर दो किशोर आ गए थे, जो 12वीं के छात्र हैं। उन्होंने दंपती का पीछा कर उन पर कमेंट किया। इसी बीच दंपती की बाइक रेत में फिसलकर गिर गई। तभी दोनों किशोर वहां से भाग निकले। दंपती ने वहां से गुजर रहे राहगीरों को बाइक सवारों के बारे में बताया। राहगीरों ने सलाह दी कि पुलिस को सूचना कर दो, लेकिन महिला के पति ने इससे इन्कार कर दिया और कहा कि पुलिस इतनी जल्दी नहीं आएगी। इस पर कुछ राहगीरों ने कहा कि पुलिस को लूटपाट की सूचना दे दो। तब जाकर पुलिस को लूट की सूचना दी गई।

फिर रच दी दुष्‍कर्म होने की कहानी

पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद दंपती ने सामूहिक दुष्कर्म की कहानी भी रच दी। सोमवार को दंपती से पूछताछ की गई, जिसमें पूरी कहानी उगल दी। महिला ने मजिस्ट्रेट के सामने दिए बयान में भी दुष्कर्म की बात से इन्कार कर दिया। उधर, पुलिस ने दोनों आरोपितों को भी हिरासत में ले रखा है, जिनसे पूछताछ की जा रही है।

पुलिस के अनुसार, दंपती ने पुलिस को झूठी सूचना देकर गुमराह किया है। दंपती के खिलाफ धारा 182 के तहत केस दर्ज किया जाएगा।

Posted By: manoj kumar