हिसार, जेएनएन। बीते नौ दिनों से हड़ताल पर चल रहे फार्मासिस्‍टों ने स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री अनिज विज के आश्‍वासन के बाद हड़ताल खत्‍म कर दी है। फार्मासिस्‍टों काम पर भी लौट आएं हैं और लोगों ने इससे राहत की सांस ली है। आज से डिस्पेंसरी में आम दिनों की तरह मरीजों को दवाइयां मिलनी शुरू हो गई है। फार्मासिस्‍ट अनिल शर्मा ने बताया कि हिसार के नागरिक अस्‍पताल में काम पर लौटने से पहले धरनास्‍थल पर दरी को प्रणाम कर लड्डू बांटकर खुशी मनाई गई। इसके बाद सभी काम पर लौट गए। हिसार की जिला प्रधान नीरू भाटिया और धरना संयोजक रविन्द्र चौपड़ा ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य प्रतिनिधिमंडल से जनता को हो रही परेशानी को देखते हुए आंदोलन को वापस लेने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि आपकी मांग पूरी करवाना अब मेरा काम है। राज्य प्रतिनिधिमंडल ने अनिल विज के आश्वासन पर तुरंत प्रभाव से अपना आंदोलन वापस लेने का निर्णय लिया और नारनौंद में होने वाले प्रदर्शन को रद कर दिया। रविन्द्र चोपड़ा ने पूरे फार्मासिस्ट वर्ग की तरफ से जनता से उनको हुई असुविधा के लिए माफी मांगी।

आज से दवा की शुरू हो जाएगी सप्लाई
पिछले नौ दिनों से जारी हड़ताल के कारण डिस्पेंसरी में इमरजेंसी में इस्तेमाल होने वाली मुख्‍य दवाइयां खत्म होने लगी थी। वेयर हाउस के फार्मासिस्ट हड़ताल पर होने के कारण सप्लाई भी बंद थी। डिस्पेंसरी को पिछले नौ दिनों से ट्रेनिंग छात्र और एनएचएम के फार्मासिस्ट संभाल रहे थे। अ‍ब फिर से सप्‍लाई सुचारू रूप से शुरू हो जाएगी।

ये हैं फार्मासिस्टों की मांगे
फार्मासिस्ट एसोसिएशन के संयोजक रवींद्र चोपड़ा ने कहा कि लंबे समय से वेतन बढ़ाने की मांग कर रहे थे, राजपत्रित फार्मासिस्ट का वेतनमान 4200 पे ग्रेड है। सरकार ने समान पैरा मेडिकल केटेगरी का वेतनमान 4600 ग्रेड पे कर दिया है वहीं फार्मासिस्ट को 4200 पर ही रख दिया है जो इस वर्ग का सरासर सम्मानहरण है। इसी को लेकर हड़ताल की थी। यूनियन की स्वास्थ्य मंत्री के साथ बैठक हुई, उन्होंने मांगे मानने का आश्वासन दिया है। इसके बाद हड़ताल खत्म करने का की घोषणा कर दी गई है। 

 

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस