रोहतक, जागरण संवाददाता। रोहतक के गढ़ी माजरा गांव में व्यक्ति ने जहर निगल कर आत्महत्या कर ली। मृतक के पास से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ, जिसने अपनी मौत के लिए देव कॉलोनी निवासी एक महिला और उसके बेटे को जिम्मेदार ठहराया था। आइएमटी थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

गढ़ी माजरा निवासी बलजीत ने दिलवाया था एक अन्य महिला को प्लाट

पुलिस को दी गई शिकायत में गढ़ी माजरा गांव निवासी रोहित ने बताया कि जून 2012 में उसके पिता बलजीत ने मातन गांव निवासी ओमपति को माजरा में प्लाट दिलवाया था। यह प्लाट देव कालोनी निवासी सोनू और उसकी मां चंद्रवती से खरीदा था। जिसकी फुल पेमेंट करा दी गई थी, लेकिन इसके बाद रजिस्ट्री बंद होने के कारण प्लाट की रजिस्ट्री नहीं हो सकी। करीब एक साल पहले बलजीत को पता चला कि सोनू और उसकी मां ने मिलीभगत कर यह प्लाट किसी अन्य को बेच दिया है। इसके बाद बलजीत और ओमपति ने कई बार पंचायत की, लेकिन सोनू और उसकी मां ने ना प्लाट दिया और ना ही रुपए वापस किए।

देव कॉलोनी निवासी मां बेटे से खरीदा था प्लाट, नहीं हुई थी रजिस्ट्री

तभी से बलजीत काफी परेशान रहने लगा था। एक जनवरी को बलजीत ने जहरीला पदार्थ निगल कर आत्महत्या का प्रयास किया। जिसे पीजीआई में भर्ती कराया गया। हालत में सुधार नहीं होने पर 10 जनवरी को उसे निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां से 13 जनवरी को उसे छुट्टी मिल गई। घर आने के बाद बलजीत की हालत खराब हो गई और शुक्रवार को उसने दम तोड़ दिया। मृतक के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला, जिसमें लिखा था कि उसकी मौत के लिए सोनू और उसकी मां चंद्रवती जिम्मेदार है सुसाइड नोट मिलने के बाद पीड़ित ने आइएमटी थाने में मां बेटे खिलाफ मामला दर्ज कराया थाना प्रभारी कैलाश चंद ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By: Naveen Dalal