संवाद सहयोगी, हांसी: भाजपा की जनविरोधी नीतियों, उबाऊ कार्यप्रणाली और प्रशासन पर मुख्यमंत्री की कमजोर पकड़ का खामियाजा प्रदेश का आम जनमानस भुगत रहा है। सरकारी अधिकारी मनमर्जी से कार्य कर रहे हैं। सरकार एवं प्रशासनिक अधिकारियों में आपसी तालमेल की कमी है, जिस वजह से लोगों की बुनियादी जरूरतों से संबंधित कार्य भी ठप पड़े हैं। यह बात विधायक रेणुका बिश्नोई ने हांसी हलके के गांव अनीपुरा, ढाणा कलां, लक्ष्मण चौतरा, सैनीपुरा, ढाणी पाल, ढाणी कुतुबपुर, गांधी कालोनी, दि?ी गेट व मॉडल टाउन में विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेने दौरान लोगों से बातचीत करते हुए कही। उन्होंने कहा कि ऐसा क्या कारण है कि हांसी में सरकार व प्रशासन लोगों को पर्याप्त पेयजल भी उपलब्ध नहीं करवा पा रहे। हांसी में बदहाल सीवरेज प्रणाली, टूटी सड़कों, बेसहारा आवारा पशुओं का बढ़ते जमावड़े तथा बदतर कानून व्यवस्था से हांसी की जनता में सरकार के प्रति भारी रोष है। आने वाले विधानसभा सत्र में वे एक बार फिर प्रदेश सरकार से हांसी के साथ हो रहे भेदभाव पर जवाब मांगेंगी। विधायक रेणुका बिश्नोई ने कहा कि हांसी में नगर परिषद पर विकास कार्यो के लिए बजट आता है, परंतु नगर परिषद में आपसी सामंजस्य की वजह से शहरवासी विकास कार्यो की बाट जोह रहे हैं। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री ने हांसी के विकास के लिए 10 करोड़ रुपए दिए जाने, विधायक आदर्श ग्राम योजना के तहत विकास राशि जारी करने की भी घोषणा की थी, जो कि अभी तक घोषणा ही है। इस अवसर पर रविन्द्र बहार, सुभाष बेरवाल, महेंद्र घाड़ेला, टोनी भाटिया, नरेंद्र सैनी, देसराज सरपंच, पंकज कोचर, राजू बत्तरा आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस