जागरण संवाददाता भिवानी : 73वां गणतंत्रता दिवस समारोह भिवानी में धूमधाम से मनाया गया। कृषि मंत्री जेपी दलाल ने ध्वजारोहण किया और परेड की सलामी ली। भीम स्टेडियम में हुए समारोह में बच्चों ने रंगारंग और देशभक्ति से ओतप्रोत प्रस्तुतियां दी। प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। इससे पहले नेहरू पार्क में शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित कर उनको नमन किया गया।

समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा हम 73 वां गणतंत्र दिवस मना रहे हैं। खुशी के इस मौके पर आप सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। वर्ष 1950 में आज ही के दिन हमारा संविधान लागू हुआ था। इसी संविधान के कारण हम सभी को समान न्याय, स्वतंत्रता एवं समानता का अधिकार मिला। बाबा साहेब डा. भीमराव आंबेडकर सहित संविधान सभा के तमाम सदस्यों को नमन करता हूं। गणतंत्र दिवस के साथ हमारे देशभक्तों के त्याग और बलिदान की एक लंबी गौरवगाथा जुड़ी हुई है। देश को आजादी दिलाने के लिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, शहीद भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव, चंद्रशेखर आजाद और उधम सिंह जैसे अनेक स्वतंत्रता सेनानियों ने लम्बा संघर्ष किया।

देश की आजादी के लिए अपने प्राणों को न्योछावर करने वाले सभी ज्ञात-अज्ञात शहीदों के साथ-साथ उन जांबाज जवानों को भी सलाम करता हूं, जिन्होंने आजादी के बाद देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की बाजी लगा दी।आजादी की लड़ाई में हरियाणा प्रदेश का भी अहम योगदान रहा है। आज भी हरियाणा के नौजवान सेना में भर्ती होना अपनी शान समझते हैं। यही कारण है कि भारतीय सेना का हर दसवां जवान हरियाणा से है।

हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों के कठोर संघर्ष से हमें आजादी मिली तो वहीं दिन-रात मुस्तैदी से देश की सीमाओं की निगरानी करने वाले वीर सैनिकों के कारण हमारी यह आजादी सुरक्षित है। पूरा देश उनका ऋणी है। उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त करते हुए हमने युद्ध के दौरान शहीद हुए हरियाणा के सैनिकों और अर्ध-सैनिक बलों के जवानों की अनुग्रह राशि 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये की है। इसी प्रकार, आईईडी बलास्ट में शहीद होने पर भी अनुग्रह राशि 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये की गई है।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में मौजूदा हरियाणा सरकार ‘सबका साथ-सबका विकास’ के मूलमंत्र पर प्रदेश के हर क्षेत्र का समान विकास करवाने के लिए प्रयासरत है। राज्य सरकार ने व्यवस्था परिवर्तन एवं सुशासन के पथ पर चलते हुए कई अनूठी पहल की हैं। इनमें युवाओं को योग्यता के आधार पर सरकारी नौकरी, कर्मचारियों का आनलाइन तबादला, राशन, पेंशन, वजीफोंं, सब्सिडी में चल रहे फर्जीवाड़े को बंद करना आदि शामिल है।

आज हरियाणा की गिनती देश के सर्वाधिक विकसित राज्यों में होती है। हरियाणा देश का पहला राज्य है, जहां पढ़ी-लिखी पंचायतें हैं। हरियाणा देश का पहला ऐसा राज्य भी है, जिसने शासन में पंचायती राज संस्थाओं की अधिक से अधिक भागीदारी के लिए अंतर-जिला परिषद का गठन किया है।

ग्रामीण क्षेत्रों को डिजिटल बनाने के लिए ‘ग्राम दर्शन पोर्टल’ पर 6197 ग्राम पंचायतों का डिजिटल डाटा उपलब्ध है। ग्रामीणों को उनकी सम्पत्ति का मालिकाना हक देने के लिए गांवों को लाल डोरा मुक्त किया जा रहा है। इसमें 6309 गांवों को कवर किया जा चुका है।

हरियाणा देश का पहला राज्य है, जहां प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डी.बी.टी.) के माध्यम से शत-प्रतिशत लाभार्थियों के खाते में सामाजिक सुरक्षा पेंशन भेजी जा रही है। प्रदेश में हर व्यक्ति को उसके घर-द्वार पर ही सरकार की योजनाओं व सेवाओं का लाभ मिले, इसके लिए विभिन्न विभागों की योजनाओं व सेवाओं को ऑनलाइन किया जा रहा है। ‘मेरा परिवार-मेरी पहचान’ कार्यक्रम के तहत सभी परिवारों के परिवार पहचान-पत्र बनाए जा रहे हैं।

प्रदेश के सबसे गरीब परिवारों का जीवन स्तर ऊंचा उठाने के लिए ‘मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना‘ चलाई जा रही है। इसके तहत सबसे गरीब परिवारों की पहचान करके उनकी वार्षिक आय कम से कम एक लाख 80 हजार रुपये की जाएगी। इस योजना के तहत अब तक एक लाख रुपये से कम वार्षिक आय वाले लगभग एक लाख 49 हजार परिवारों की पहचान की गई है। मार्च, 2022 तक एक लाख परिवारों के उत्थान का लक्ष्य है।

प्रदेश में बीपीएल परिवारों की वार्षिक आय सीमा एक लाख 20 हजार रुपये से बढ़ाकर एक लाख 80 हजार रुपये की गई है ताकि ज्यादा से ज्यादा परिवारों को गरीब कल्याण से जुड़ी योजनाओं का लाभ मिल सके। ‘मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना‘ के तहत बीपीएल परिवारों को 6 हजार रुपये वार्षिक सहायता दी जा रही है। ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ के तहत कोविड महामारी के मद्देनजर मार्च-2022 तक मुफ्त राशन दिया जाएगा। ‘प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना’ के तहत रेहड़ी-फड़ी वालों को अपना काम शुरू करने के लिए 10 हजार रुपये तक का ऋण दिया जा रहा है। ‘प्रधानमंत्री आवास योजना’ के तहत गरीबों के लिए 75,000 मकान बनाए गए हैं।

प्रदेश में सभी तरह की सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि बढ़ाकर 2500 रुपये मासिक की गई है। इसके अलावा, 60 वर्ष से अधिक आयु के

प्रदेश में पिछले सवा 7 वर्षों में कुल 67 नए राजकीय महाविद्यालय खोले गए हैं, जिनमें से 42 लड़कियों के लिए हैं। इसके अलावा, प्रदेश में 29 महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान भी स्थापित किए गए हैं।

हमारे युवा प्रतियोगी परीक्षाओं में अग्रणी रहें, इसके लिए सुपर-100 प्रोग्राम चलाया जा रहा है। यह गर्व की बात है कि इसके तहत कोचिंग पाने वाले विद्यार्थी आई.आई.टी. मेन्स और नीट जैसी राष्ट्रीय स्तर की परीक्षाओं में मैरिट में स्थान प्राप्त कर रहे हैं।

युवाओं को नौकरी के लिए बार-बार आवेदन करने व फीस भरने से छुटकारा दिलाने के लिए ‘एकल पंजीकरण’ की सुविधा शुरू की गई है। बार-बार प्रतियोगी परीक्षा से निजात दिलाने के लिए ‘कॉमन पात्रता परीक्षा’ का प्रावधान किया गया है।

हरियाणा की बेहतर खेल नीति के परिणाम स्वरूप ही टोक्यो ओलम्पिक में कुल 7 पदकों में से 3 पदक हरियाणा के खिलाडिय़ों ने जीते हैं। हरियाणा पदक जीतने वाले खिलाडिय़ों को पुरस्कार के रूप में देश में सर्वाधिक नकद राशि देता है। ओलम्पिक की तैयारी के लिए 5 लाख रुपये की एडवांस प्रोत्साहन राशि देने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य है। प्रदेशभर में करवाए जा रहे विकास कार्यों की कड़ी में प्रदेश सरकार ने जिला मुख्यालय पर बनने जा रहे मेडिकल कॉलेज और चौ. बंसीलाल विश्व विद्यालय के लिए करोंडों रुपए की ग्रांट जा जारी की है, परिणाम स्वरूप मेडिकल कॉलेज और विश्वविद्यालय का निर्माण जल्द संपन्न होगा। इसी प्रकार से सरकार द्वारा भिवानी शहर को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए शहर के चारों ओर नया सरकुलर रिंग रोड़ का निर्माण करवाया जा रहा है। जिला में सडक़ परियोजनाओं पर करीब एक हजार करोड़ रुपए से अधिक राशि खर्च की जाएगी। एनएच 709 पर गांव ढिगावा में भी बाईपास का निर्माण करवाया जाएगा, जिस पर करीब 50 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जाएगी।

प्रदेश में नई व्यवस्था बनाकर लोगों में नई उम्मीद जगाने का काम किया है। माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ओजस्वी मार्गदर्शन और माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल के कुशल नेतृत्व में ‘सबका साथ-सबका विकास’ के मूलमंत्र और पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के ‘अंत्योदय’ के दर्शन पर चलते हुए प्रदेश की तस्वीर बदली है, लोगों को तकदीर बदली है। आज हरियाणा के लोगों की आशाएं व आकांक्षाएं फलीभूत हो रही हैं। समाज के हर वर्ग के कल्याण-उत्थान और प्रदेश के हर क्षेत्र के समान विकास की बहुआयामी नीतियां लागू की गई हैं। विकास के लाभ अंतिम पंक्ति में बैठे व्यक्ति तक पहुंच रहे हैं।

आप सभी को गणतंत्र दिवस की पुन: बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूं। आइए, राष्ट्र-स्वाभिमान के मौके पर हम देश व प्रदेश के नव-निर्माण में अपने पूरे सामथ्र्य से जुट जाने का संकल्प लें ताकि हमारा भारत एक बार फिर वही भारत बन सके, जिसके गौरव और वैभव की कहानियां हम अक्सर सुनते आए हैं। साथ ही हम सब एक बार फिर से राष्ट्र की एकता व अखंडता को बनाए रखने का संकल्प दोहराएं। इन्हीं शब्दों के साथ मैं आप सबको गणतंत्र दिवस की पुन: बधाई।

गणतंत्र दिवस समारोह में भव्य झांकियां रही आकर्षण:

गणतंत्र दिवस समारोह में बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए वहीं आकर्षक झांकियां भी खूब सराही गई समारोह को लेकर उत्साह देखते ही बन रहा था। इस मौके पर उपायुक्त आरएस ढिल्लो पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत के अलावा अनेक स्थानीय नेता एवं प्रबुद्ध लोग उपस्थित रहे।

Edited By: Manoj Kumar