हिसार/सिरसा, जेएनएन। कालांवाली के विधायक शीशपाल केहरवाला के पिता ओमप्रकाश से जमीन से संबंधित रिकार्ड की निर्धारित से अधिक फीस लेने के मामले में उपायुक्त प्रदीप कुमार ने मत्तुवाला के पटवारी जसवंत सिंह को निलंबित कर दिया है। इस मामले की विस्तृत जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

विधायक के पिता ओमप्रकाश को जमीन के इंतकाल व गिरदावरी से संबंधित कागजात की आवश्यकता थी। मत्तुवाला पटवार सर्कल के अधीन ही उसका गांव केहरवाला पड़ता है। इसीलिए उसने मत्तुवाला सर्कल के पटवारी से नकल संबंधी कागजात हासिल किए। इसके बदले पटवारी ने दो हजार रुपये फीस बताई। ओमप्रकाश केहरवाला ने कहा कि वह दो हजार रुपये नकद देकर सिरसा आ गया और इसी दौरान परिचित सेवानिवृत्त पटवारी से मुलाकात हुई। हाथ में जमीन संबंधी कागजात देखकर पूछा कि पटवारी से नकल लेकर आए हो क्या। तो उसने हां में उत्तर दे दिया। इसके बाद यह भी पूछा कि फीस भी दी है क्या तो उसने बताया कि उसने तो बिना फीस दिए कभी नकल नहीं ली। हर बार वह फीस अदा करते हैं। इसके बाद सेवानिवृत्त पटवारी ने हाथ में लिए कागजात ले लिए और कागजात देखकर कहा कि कोई अधिक फीस नहीं है। तब उसने बताया कि पटवारी ने दो हजार रुपये फीस ली है। रिटायर्ड पटवारी ने कहा कि सरकारी फीस तो 370 रुपये के करीब है। इतने रुपये कैसे ले सकता है और वह भी आपसे।

रिटायर्ड पटवारी से भी की थी अभद्रता

उसे भी इस बात पर विश्वास ही नहीं हुआ कि पटवारी उससे अधिक फीस वसूल सकता है। ओमप्रकाश ने बताया कि वह राजनीतिक परिवार से है। खुद कई चुनाव लड़ चुका है। ऐसे में उसे विश्वास ही नहीं हुआ कि उससे भी इस तरह अधिक राशि ली जा सकती है। इसके बाद रिटायर्ड पटवारी ने जसवंत पटवारी से बात की लेकिन उसका व्यवहार अच्छा नहीं रहा। इसके बाद उसने लिखित शिकायत की। ओमप्रकाश ने बताया कि उसकी शिकायत पर कार्रवाई हुई है। इसकी उसे जानकारी नहीं हुई है लेकिन उसने शिकायत दी हुई है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021