जागरण संवाददाता, हिसार : ट्रैफिक पुलिस ने शहर में आटाे रिक्शा में तीन सवारियों की सीमा निर्धारित कर दी है। इससे आटो रिक्शा यूनियन के पदाधिकारियों से लेकर संचालकों तक में काफी रोष है। उनकी प्रशासन से मांग है कि तेल के बढ़े दामों के चलते तीन सवारी में आटो रिक्शा चलाना संचालकों को आर्थिक नुकसान में ही लेकर जाएगा। इसलिए हमारी मांग है कि पुलिस प्रशासन सवारियों की संख्या बढ़ाए। उधर हरियाणा भाईचारा आटो रिक्शा यूनियन के प्रधान मान सिंह दुग्गल ने आरोप लगाते हुए कहा कि ट्रैफिक पुलिस प्रशासन सिटी बसों में सवारियों की संख्या में कोई ध्यान नहीं दे रहा है। केवल आटो संचालकों पर ही नियम थोपे जा रहे है। ऐसे में उन्होंने डीएसपी सहित प्रशासनिक अधिकारियों से मांग की है कि आटो में सवारियों की संख्या बढ़ाई जाए।

शनिवार को ट्रैफिक पुलिस ने आटो संचालकों को तीन सवारियों के लिए चेताया

बता दे कि ट्रैफिक पुलिस की बागडोर संभाल रहे डीएसपी अभिमन्यु लौहान और ट्रैफिक एसएचओ रमेश कुमार शनिवार को बस स्टैंड पर पहुंचे और आटो यूनियन के पदाधिकारी व आटो संचालकों को समझाया कि केवल तीन सवारी ही सोमवार से आटो में बैठाने की अनुमति होगी। इससे ज्यादा बैठाते है तो चालान काटने की कार्रवाई या आटो जब्त करने की कार्रवाई की जाएगी।

साउंड सिस्टम भी आटो में हटाना पड़ेगा

ट्रैफिक पुलिस प्रशासन ने सभी आटो संचालकों को दिशा निर्देश दिए है कि वे स्टीरियो या साउंड सिस्टम को आटो से हटाए। इसके अलावा चालक के पास लगी अतिरिक्त सीटों को भी हटाए। ऐसा नहीं करने पर भी कार्रवाई की जाएगी।

शहर की यह है स्थिति

हिसार में करीब 8 हजार आटो रिक्शा है। इन आठ हजार परिवारों में अधिकांश का आर्थिक आधार का प्वाइंट आटो रिक्शा ही है।

--तीन सवारी के आदेश थोपना हमारे साथ ज्यादती है। हमारी मांग है कि सवारी की संख्या बढ़ाई जाए। सिटी बसों पर सवारियों को लेकर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। प्रशासन उन पर भी संज्ञान ले।

- मान सिंह दुग्गल, प्रधान, हरियाणा भाईचारा आटो रिक्शा यूनियन, हिसार।

Edited By: Manoj Kumar