संवाद सहयोगी, सिवानीमंडी : प्रदेश के कृषि मंत्री जेपी दलाल हलका लोहारू के किसानों की अनदेखी करके तुगलकी फरमान जारी करवा रहे है जो कि बिल्कुल गलत है। ये आरोप हलका लोहारू इनेलो के पूर्व विधायक ओमप्रकाश बड़वा ने लगाए। वो तहसील परिसर में किसानों के धरने को संबोधित कर रहे थे। बड़वा ने कहा कि कृषि मंत्री भाखड़ा ब्यास से जुड़े नहर विभाग के हिसार कार्यालय को लोहारू बदल रहे हैं। उसमें केवल उनका अपना फायदा है ना कि हलके के किसानों का। उन्होंने कहा कि हिसार जन मंडल के अन्तर्गत आने वाली देवसर फीडर, गावडत्र माइनर, सिवानी माइनर आदि आते हैं और इन फीडरों के किसानों की कोई समस्या होती है तो किसान नजदीक पड़ने वाले हिसार शहर जाकर अधिकारियों के समक्ष अपनी समस्या रख उसका हल करवा लेते हैं। लेकिन इन नहरों के अधिकारी अगर लोहारू बैठते हैं तो किसानों को 60 किलो मीटर का सफर तय करना पड़ेगा और वहां हल ना हुआ तो भिवानी जाना पड़ेगा। ऐसे में कृषि मंत्री किसानों की समस्या को हल करने की बजाय उसे बढ़ाने का काम कर रहे हैं लेकिन क्षेत्र के किसान इसे किसी प्रकार से सहन नही करेंगे। बड़वा ने कहा कि इन नहरों के नीचे बड़वा, ढाणी रामजस, किशनलाल, मिठी, नलोई, गुरेरा, देवसर, किकराल,लीलस, रूपाणा, धूलकोट, खेड़ा, ढाणी बलारा व सिवानी के किसानों की जमीन आती है जिनको हिसार जाना आसान है। उन्होंने कहा कि सरकार ने अपनी हठधर्मिता ना छोड़ी तो किसान आन्दोलन करने को मजबूर होंगे। किसान नेता दयानन्द पूनिया ने कहा 13 जुलाई को किसानों की बड़ी बैठक आयोजित होगी। जिसमें आगामी रणनीति तैयार की जाएगी। इस मौके पर धर्मवीर, भगवान दास बड़वा, धन सिंह, बुधराम, दुनीचंद देहडू, जगदीश, ओमप्रकाश, सुंदर नम्बरदार, कमल सिंह मौजूद थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस