फतेहाबाद, जागरण संवाददाता। फतेहाबाद में हर गांव में एक नंबरदार है। कई गांवों में दो नंबरदार है। ऐसे में आज भी अनेक नंबरदारों के पास मोबाइल नहीं है। ऐसे में अब सरकार के आदेश के बाद जिला प्रशासन ने मोबाइल फोन देने शुरू कर दिए है। अब नंबरदार भी वाट्सअप व वीडिया काेल से बात कर सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने की थी घोषणा, उसके अनुसार ही दिए जा रहे मोबाइल फोन

जिला में कार्यरत नंबरदारों को सरकार द्वारा मोबाइल फोन उपलब्ध करवाए जाएंगे। जिला प्रशासन नंबरदारों को शेड्यूल अनुसार तहसील व उप तहसील के नंबरदारों को कैंप लगाकर ये फोन वितरित किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में फतेहाबाद, भट्टू कलां व रतिया तहसील में कार्यरत लंबरदारों को वीरवार को डीपीआरसी बिल्डिंग में उपायुक्त प्रदीप कुमार, एसडीएम राजेश कुमार ने मोबाइल फोन वितरण करने के कार्य का शुभारंभ किया।

यहां मिलेंगे मोबाइल

उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि नंबरदारों को सरकार की हिदायतोंनुसार 9000 रुपये की राशि का फोन दिया जाएगा। सुबह 10 बजे से सायं 5 बजे तक 8 जुलाई को तहसील कुलां, जाखल, टोहाना व भूना के लंबरदारों के लिए किसान रेस्ट हाउस टोहाना में कैंप का आयोजन किया जाएगा। इस कैंप में आने वाले नंबरदारों को अपने साथ आधार कार्ड, नंबरदार पहचान पत्र, परिवार पहचान पत्र व मोबाइल फोन जिसमें उन्हें 9000 रुपये के कूपन का संदेश प्राप्त हुआ है, वे अवश्य लेकर आए।

स्टाल लगाकर किया पंजीकरण

एसडीएम राजेश कुमार ने कहा कि आयोजित शिविर में स्टाल लगाकर नंबरदारों का पंजीकरण किया गया है। उन्होंने बताया कि जिन नंबरदारों ने लावा कंपनी फोन की इच्छा जताई उन्हें फोन दिया गया है। जिन नंबरदारों ने सैमसंग कंपनी के फोन की मांग की है, उनका पंजीकरण कर लिया गया है। कैंप लगाकर आगामी दिनों में पंजीकृत नंबरदारों को फोन उपलब्ध करवाए जाएंगे। इसके अलावा जिन लंबरदारों ने 9000 रुपये से अधिक की राशि के फोन की मांग की है, उनसे शेष राशि प्राप्त कर मांग अनुसार फोन उपलब्ध करवा दिए जाएंगे। इस अवसर पर तहसीलदार रणविजय सुल्तानिया, विजय सियाल सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

Edited By: Naveen Dalal