जासं, हिसार: घुमंतू बस्ती में शाश्वत हिन्दू व मानवाधिकार संगठन की प्रदेश संयोजक प्रतिभा ने प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य स्वराज वर्मा के साथ दौरा कर बस्ती की तकलीफों को समझा। गिहरा समाज प्रमुख रवि गिहरा ने बताया की वर्षो से उनके समाज को घोर अभाव में जीवन यापन करना पड़ रहा है। जिससे उनके आने वाली पीढ़ी भी प्रभावित हो रही है। आजादी के 75 वर्ष बाद भी उनका समाज मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहा है। प्रदेश संयोजक प्रतिभा शिवांश ने समाज के लोगो को विश्वास दिलाया कि उनकी तकलीफों को वो उच्च स्तर पर पहुंचाएंगी। उन्होंने कहा उनका संगठन शाश्वत मूल्यों और विरासत पर कार्य कर रहा है। जिसमे घुमंतू जनजातियों जिन्होंने धर्म के लिए सब कुछ त्याग दिया लेकिन धर्म नही छोड़ा प्राथमिकता पर है, उनके द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर घुमंतू जनजातियों की तकलीफों को साझा किया जाएगा। जल्द ही मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने की कोशिश रहेगी। संगठन की प्रदेश कार्यकारी सदस्य व हस्ला अधिकारी स्वराज वर्मा ने शिक्षा और स्वास्थ्य पर बल देते हुए बच्चो को नजदीक के सरकारी स्कूल में दाखिला करवाने का अनुरोध बस्ती की महिलाओ से किया इस मौके पर धन्ना राम, राजेश कंगना, रवीना, अंगूरी, रेखा, पिगा, आजरा, ज्योति, हरमीत, सुनेना,रूमाली, रबड़ी देवी ,सुमन, कृष्णा देवी समेत अनेक लोग मौजूद रहे।

Edited By: Jagran