जागरण संवाददाता, फतेहाबाद : पिछले कई दिनों से पेंशन के मुद्दे को लेकर प्रदेश सरकार को घेरने में जुटे नवीन जयहिंद वीरवार को फतेहाबाद पहुंचे और पेंशन के साथ साथ भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भी सरकार को खूब खरी-खोटी सुनाई। एक पत्रकारवार्ता में भ्रष्टाचार से जुड़े एक सवाल पर नवीन जयहिंद ने यहां तक कह दिया कि प्रदेश के सभी मंत्रियों और विधायकों का नारको टेस्ट करवाकर उसका सीधा प्रसारण करवाना चाहिए। ताकि प्रदेश की जनता को भी उनके नुमाइंदों के बारे में पता चल जाए।

लंपी बीमारी पर पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि सरकार खुद को गोभक्त कहलवाती है, लेकिन अब जब देश-प्रदेश में लंपी के कारण लाखों गायों की मौत हो चुकी है, तब सरकार को चीतों की चिंता पड़ी है। उन्होंने कहा कि हमारे लिए तो गाय माता जैसी है। गाय का तो गोबर भी काम आता है और गोमूत्र भी। लेकिन चीतों से क्या मिलेगा।

जिनके लिए सैंकड़ों करोड़ रुपये खर्च कर दिए गए जबकि लंपी से मर रही गायों के लिए सरकार अभी तक कोई पर्याप्त कदम ही नहीं उठा सकी। उन्होंने कहा कि सरकार को चुनावों के वक्त तो गाय की जरूरत और भक्ति याद आ जाती है, लेकिन अब जब वास्तव में गायों को सरकार की जरूरत है तो सरकार खुलकर सामने ही नहीं आ रही है।

इसके अलावा पेंशन के मुद्दे पर बोलते हुए नवीन जयहिंद ने प्रदेश सरकार द्वारा फतेहाबाद जिले के लिए मुहैया करवाए गए नंबर को सामने करते हुए कहा कि फतेहाबाद जिले के सभी लोग, जिनकी पेंशन कट गई है, वो इस नंबर पर बात करके सरकार से पेंशन वापिस हासिल कर सकते हैं। लेकिन अगर इस नंबर से काम ना बने तो उन्होंने अपना 70278-11811 भी जारी किया जिसपर लोग पेंशन की समस्या उन्हें बता सकते हैं।

नवीन जयहिंद ने पेंशन को लेकर आंकड़ों के साथ सरकार को घेरा

जयहिन्द ने बताया सरकार के अनुसार 1 लाख 75 हजार 298 लोगो की पेंशन टेक्निकल गड़बड़ी के कारण रोकी गयी है। फैमिली आईडी में गड़बड़ी के कारण  1 लाख 4 हजार 655 लोगों की पेंशन रोकी गयी है। रजिस्ट्रार जनरल ऑफ इंडिया के डेटा अनुसार 70 हजार 643 लोगो की पेंशन कतई गयी। 14 हजार 691 लोग तो ऐसे है जो जिंदा है लेकिन मरे हुए दिखा रखा है। 18 हजार 581 विधवा महिलाओ के पति जिंदा दिखा रखे है। 34 हजार 703 लोग ऐसे है जिनकी आय शून्य है लेकिन 2 लाख रुपए आय दिखा रखी है।

33 हजार  616 लोगो को एक्ससर्विसमैन दिखा रखा है। 4500 विकलांग ऐसे है जिन्हें बिल्कुल फिट दिखा कर उनकी पेंशन काट दी। 2404 लोगो को सरकारी कर्मचारी दिखाकर उनको सरकारी पेंशन देते है जबकि वे सरकारी कर्मचारी नही है। 2044 लोगो की लाडली पेंशन को रोक दिया गया। जबकि 2 लाख ऐसे व्यक्ति है जो 60 वर्ष से ऊपर है और उनकी पेंशन नही बना रहे।

पत्रकारों को ये आंकड़े दिखाते हुए नवीन जयहिंद ने कहा कि भले ही सरकार जितने मर्जी दावे कर ले, लेकिन ये आंकड़े प्रदेश सरकार की ओर से ही मिले हैं। अब इस मामले पर सरकार को घेरा है तो जाकर सरकार जागी है और अब पेंशन बनाने के काम पर जुटी है। जल्द ही सभी पेंशन भोगियों को पेंशन ना मिली तो एक बड़ा आंदोलन शुरू किया जाएगा।

Edited By: Manoj Kumar