रोहतक, जागरण संवाददाता। रोहतक के पहरावर गांव में गौड़ ब्राह्मण शिक्षण की लड़ाई लड़ रहे नवीन जयहिंद शनिवार को सिविल लाइन थाने पहुंचे और मुख्यमंत्री मनोहर लाल के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने के लिए शिकायत पत्र सौंपा। जयहिंद ने इस मामले में भाजपा सांसद डा. अरविंद शर्मा को गवाह बनने का आग्रह भी किया था क्योंकि सांसद ने ही सीएम पर पद की शपथ का उल्लंघन करने का आरोप लगाया था। पुलिस ने शिकायत ले ली है।

सांसद डा. अरविंद शर्मा ने सीएम पर लगाया था शपथ के उल्लंघन करने का आरोप

बता दें कि भाजपा सासंद डा. अरविंद शर्मा ने रोहतक के मैना पर्यटन केंद्र में प्रेसवार्ता के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल पर शपथ की उल्लंघना का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते हुए संविधान में जिन बातों का उल्लेख किया गया है, उनका पालन मुख्यमंत्री नहीं कर रहे हैं। मुख्यमंत्री पर भेदभाव करने के आरोप लगाते हुए दूसरों के दिमाग से काम करने की बात कही थी।

नवीन जयहिंद ने इस मामले में पहले तो सांसद डा. अरविंद शर्मा को सीएम के खिलाफ एफआइआर दर्ज करवाने की मांग की थी। लेकिन जब सांसद ने शिकायत नहीं दी तो खुद ही एफआइआर दर्ज करवाने का अल्टीमेटम दिया था। शनिवार को अल्टीमेटम पूरा होने के बाद जयहिंद सीधे सिविल लाइन थाने पहुंचे और सीएम के खिलाफ केस दर्ज करने कीी मांग की।

जयहिंद ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल पर आरोप उनकी ही पार्टी के सांसद ने लगाए है, इसलिए मामला गंभीर है। पुलिस ने सीएम के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए, इस मामले में सांसद के बयान की वीडियो भी सबूत के तौर पर देंगे, जिन्हें गवाह बनाया जा सकता है।

कश्मीरी पंडितों की भी आवाज उठा रहे हैं जयहिंद

नवीन जयहिंद पहरावर की जमीन के मामले के साथ-साथ कश्मीरी पंडितों पर हो रहे अत्याचारों का मुद्दा भी उठा रहे हैं। पिछले दिनों श्रीनगर के लाल चौक से इंटरनेट मीडिया पर लाइव आकर कश्मीरी पंडितों को एक-47 देने की मांग की है ताकि वे खुद अपनी सुरक्षा कर सके। कश्मीरी पंडितों की हत्या के विरोध में 26 जून को जयहिंद ने नई दिल्ली के जंतर-मंतर पर फरसे लेकर प्रदर्शन करने का ऐलान कर रखा है। जंतर-मंतर पर प्रदर्शन को लेकर लगातार जनसंपर्क भी कर रहे हैं।

Edited By: Naveen Dalal