अग्रोहा/हिसार, जेएनएन। छोटी छोटी बातों को लेकर इंसान अपना आपा खो बैठता है और कोई बड़ा जुर्म कर बैठता है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। अग्रोहा क्षेत्र के गांव सिन्डोल में पड़ोस में रहने वाले एक परिवार के लोगों ने 75 वर्षीय बुजुर्ग रणजीत ठाकुर पर हमला कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया। उसे अग्रोहा मेडिकल कालेज के आपातकाल विभाग में ले जाया गया, जहां  चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

सूचना मिलते ही जिला पुलिस अधीक्षक अमरजीत कटारिया, अग्रोहा थाना प्रभारी खडग़ ङ्क्षसह व सीन ऑफ क्राइम अधिकारी ओमप्रकाश घटना स्थल पर मुआयना करने पहुंचे। अग्रोहा थाने में मृतक के भतीजे के बयान दर्ज कर पुलिस ने महिला मोनी देवी, उसकी दो बेटियों सुनीता और निर्मला के अलावा बेटों सुनील व प्रदीप के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी हैं।

मृतक के भतीजे हनुमंत ङ्क्षसह ने पुलिस को दिए अपने बयान में बताया कि उसके चाचा रणजीत के मकान के पीछे आरोपितों ने अवैध रूप से शौचालय बना रखा था। उसके चाचा ने आरोपित परिवार के लोगों को पहले भी कई बार शौचालय हटवाने के लिए कहा। उन लोगों ने पंचायती तौर पर उसे हटवाने के लिए कह दिया था लेकिन उसे हटाया नहीं। इसके लिए आरोपितों के खिलाफ बुजुर्ग ने सीएम ङ्क्षवडो पर भी अपनी शिकायत दर्ज करवाई हुई थी।

वीरवार करीब 12 बजे जब उसका चाचा रणजीत अपने मकान के पीछे गया तो महिला मोनी देवी ने इसी बात को लेकर उसके साथ गाली गलौज करना शुरू कर दिया। इसके बाद अपने परिवार के अन्य लोगों को बुलाकर उसके चाचा पर लात घूसों व ईंटों से हमला कर उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया। परिवार के लोग उसके चाचा को अग्रोहा मेडिकल कालेज लेकर गए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

 

---पुलिस ने परिजनों के बयान दर्ज कर आरोपित परिवार के लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया हैं। मामले की जांच की जाएगी। आज मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

- अग्रोहा थाना प्रभारी खडग़ सिंह।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस