संवाद सहयोगी, मंडी आदमपुर: गांव खैरमपुर में कुछ युवकों ने शराब के नशे में अपने 35 वर्षीय दोस्त की र्इंट-पत्थर मारकर बेरहमी से हत्या कर दी। पहले तीन दोस्तों ने शराब का सेवन किया इसके बाद जयवीर की सिर में र्इंट-पत्थर मारकर हत्या कर दी। सुबह ग्रामीणों को खून से लथपथ जयवीर का शव श्मशान भूमि के रास्ते पुलिया के नीचे पड़ा मिला और इसके बाद परिजनों ने घटना की सूचना आदमपुर पुलिस को दी। पुलिस ने मृतक के चाचा रामकुमार के बयान के आधार पर गांव के ही दो आरोपियों के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है। पुलिस को दिए बयान में गांव खैरमपुर निवासी रामकुमार ने बताया कि वे पांच भाई हैं, जिनमें से दो की मौत हो चुकी है। भाई मोहन लाल की मौत करीब 12 साल पहले हो गई थी। मोहन लाल के दो बच्चे एक लड़का जयवीर व दूसरी लड़की निर्मला है। भतीजा जयवीर खेतीबाड़ी का काम करता था। शुक्रवार सुबह करीब आठ बजे सूचना मिली कि जयवीर खून से लथपथ श्मशान भूमि के रास्ते पुलिया के नीचे पड़ा है। मौके पर जाकर देखा तो जयवीर मृत अवस्था में पड़ा हुआ था। उन्हें शक है कि भतीजे जयवीर के साथ रात करीब साढ़े आठ बजे दो लड़के सोनू व दूसरा राकेश थे। जिन्होंने ईट-पत्थर सिर में मारकर जयवीर की हत्या कर दी। हत्या के बाद शव को छुपाने की कोशिश की और घसीट कर शव को पुलिया के नीचे फेंक दिया। जयवीर की हत्या के बाद शव को खुर्द-बुर्द करने की भी कोशिश की गई है। हत्या की सूचना मिलते ही आदमपुर थाने से कार्यवाहक थाना प्रभारी जगदीश राम, एएसआइ राजेश कुमार, साहबराम, एसपीओ जयवीर आदि मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का मुआयना किया। इसके बाद एफएसएल टीम से ओमप्रकाश शर्मा ने आवश्यक तथ्य जुटाए। ग्रामीणों ने बताया कि जयवीर पहले आदमपुर में अकाउंटेंट का काम भी करता था। उसकी किसी के साथ रंजिश भी नही थी। वीरवार रात्रि को जयवीर, सोनू व राकेश को कन्फेक्शनरी की दुकान पर बैठा देखा गया था। आशंका जताई जा रही है कि उन तीनों ने पहले एक साथ बैठकर शराब पी एवं बाद में शराब के नशे में किसी बात को लेकर झगड़ा होने पर जयवीर की हत्या कर शव को पुलिया में डाल दिया गया। कार्यवाहक थाना प्रभारी जगदीश राम ने बताया कि पुलिस ने मृतक जयवीर के चाचा रामकुमार के बयान के आधार पर गांव के ही सोनू व राकेश के खिलाफ हत्या व शव को खुर्दबुर्द करने का केस दर्ज कर दोनों की तलाश शुरू कर दी है।

अपनी मां को इकलौता बेटा था जयवीर

मृतक जयवीर अपनी मां का इकलौता बेटा था। उसके पति की करीब 12 पहले मौत हो चुकी है। जयवीर के अलावा उसके एक बेटी भी है जो विवाहित है। मृतक जयवीर अविवाहित था और अपनी मां के साथ ही गांव में रहता था। जयवीर की मृत्यु से उसकी मां पर दुखों का पहाड़ टूट पडा है।

Edited By: Jagran