जेएनएन, हिसार। हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के खिलाफ मुख्य न्यायिक अधिकारी (सीजेएम) के यहां  मानहानि का केस दायर कर दिया है। अदालत इसपर 14 अगस्त को सुनवाई करेगी। दुष्‍यंत चौटाला ने यह केस अनिल विज द्वारा उनके खिलाफ आपत्तिजनक बयान के लिए किया है। विज ने दुष्‍यंत चौटाला को कथित रूप से नशेड़ी कहा था।

दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि उन्होंने 18 मार्च को स्वास्थ्य विभाग में करोड़ों रुपये की दवा एवं उपकरण की खरीद में हुए घोटाले को चंडीगढ़ में उजागर किया था। उसके बाद स्वास्थ्य मंत्री ने घोटाले की जांच कराने के बजाय 3 अप्रैल को प्रेस कान्फ्रेंस में उन्हें नशेड़ी बताकर किसी नशा मुक्ति केंद्र से अपना इलाज कराने की बात कही थी।

यह भी पढ़ें: EXCLUSIVE: वैष्‍णाे देवी पर जा रहे हैं तो सावधान, ऊधमपुर- कटरा रेल ट्रैक पर 'हाई वोल्टेज खतरा'

दुष्यंत ने इसे अपनी मानहानि माना और उनकी ओर से स्वास्थ्य मंत्री को नोटिस जारी कर सार्वजनिक रूप से माफी मांगने को कहा था, लेकिन निर्धारित समय सीमा में विज की ओर से इसका कोई जवाब नहीं आया। इस पर सांसद ने अदालत में स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ भादसं की धारा 499 और 500 के तहत केस दायर कराया है। 14 अगस्‍त को उनकी तरफ से गवाही होगी।

यह भी पढ़ें: पंजाब के इंजीनियर का दावा, इस तकनीक से थाईलैंड की गुफा में फंसे खिलाड़ियों को बचा लूंगा

कोई फर्क नहीं पड़ता जवाब दें देंगे : विज

उधर, स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने दुष्यंत चौटाला के नोटिस और केस दर्ज कराने पर कहा कि इससे क्या फर्क पड़ता है, जवाब दे देंगे। विज ने कहा दुष्यंत खुद को खबरों में रखना चाहते हैं इसलिए यह खेल रच रहे हैं। मैंने किसी को नशेड़ी कहा ही नहीं, वह अपने आप ही कहे जा रहे हैं। चौटाला परिवार से पारिवारिक संबंधों पर विज ने कहा कि हमारे सभी से व्यक्तिगत संबंध हैं।

यह भी पढ़ें: गांव पर लगे इस कलंक से शर्मिदा हैं लोग, दाग धोने को पहरेदार बने युवा

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस