जेएनएन, उकलाना (हिसार)। चौटाला परिवार की कलह में अब सांसद दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय चौटाला के पक्ष में उनकी मां नैना चौटाला भी आगे आई हैं। दुष्‍यंत और दिग्विजय के इनेलो से निलंबन और चौटाला परिवार में चल रही रार पर डबवाली सीट से विधायक नैना चौटाला ने पहली बार बोली हैं। दोनों पर अनुशासनहीनता का आरोप लगाए जाने पर नैना ने पलटवार किया। उन्‍होंने कहा कि अच्‍छ संस्‍कार पर चलना अनुशासनहीनता है तो कहा, मैंने दुष्यंत-दिग्विजय को अच्छे संस्कार दिए हैं। उन्हीं पर चलकर वे जनता की सेवा कर रहे हैं और पार्टी को मजबूत बनाने में लगे हैं। यही कारण है कि उनकाे जनता का पूरा समर्थन मिल रहा है।

बोलीं, संस्कारों पर चलना अनुशासनहीनता है तो हर बेटे को अनुशासनहीन होना चाहिए

नैना चौटाला अगर अच्छे संस्कारों पर चलना अनुशासनहीनता होती है तो वह चाहती हैं कि हर मां को ऐसे संस्कार देने चाहिए और हर बेटे को अनुशासनहीनता करनी चाहिए। दुष्यंत चौटाला को समर्थकों द्वारा भावी सीएम बताने के सवाल पर उन्होंने कहा कि एक मां के कहने या ड्राइंग रूम से कोई सीएम नहीं बनता, बल्कि प्रदेश की जनता मुख्यमंत्री बनाती है।

उन्होंने कहा कि डॉ. अजय चौटाला ने अपने जीवन के 40 साल पार्टी को दिए हैं और कड़ा संघर्ष किया है। अब जिस तरह से दुष्यंत चौटाला को जनता का समर्थन मिल रहा है उससे लगने लगा है कि अब मेरे पति की 40 वर्षो की मेहनत रंग ला रही है। इस अवसर पर विधायक अनूप धानक, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी, कृष्ण नांगली, कै. छज्जुराम, होशियार सिंह बिठमड़ा, शेर सिंह बतरा, राधिका गोदारा, बलराज, नैना, कविता, धूप सिंह, रोहताश, बिरेंद्र, नसीब आदि मौजूद रहे।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस