जागरण संवाददाता, रोहतक। स्वास्थ्य विभाग को अगर किसी योजना का प्रचार करवाना होता है तो सभी की जुबान पर साइक्लिंग मैन कुलदीप का नाम आता है। कुलदीप ने 2019 में योजनाओं के प्रचार के लिए साइक्लिंग शुरू की व अब तक 52 हजार किलोमीटर की यात्राएं कर चुके हैं।

मूल रूप से सांपला निवासी कुलदीप स्वास्थ्य विभाग में मल्टी पर्पज हेल्थ वर्कर के पद पर तैनात हैं। उन्हें 2010 में स्वास्थ्य विभाग में नियुक्ति मिली थी। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के प्रचार के लिए शुरू में उनके मन में ख्याल आया। उन्होंने अधिकारियों को अपनी योजन के बारे में अवगत करवाया। इसके बाद अधिकारियों ने साइक्लिंग के माध्यम से योजना का प्रचार करने के लिए कुलदीप को परमिशन दे दी। बस उस दिन के बाद से वे लगातार हर योजना के प्रचार को ग्रामीण आंचल में साइकिल पर जाते हैं। उनके कार्य से प्रभावित होकर 2019 में ही स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने अंबाला में सम्मानित कर चुके हैं।

30 किलोग्राम वजन भी घटाया

स्वास्थ्य विभाग कर्मी कुलदीप ने योजनाओं के प्रचार के लिए साइकिल से ग्रामीण आंचल में जाने की ठानी तो उस समय उनका वजन 105 किलोग्राम था। अब तीन साल में उनकी 52 हजार किलाेमीटर की यात्रा का असर यह है कि उनका वजन 31 किलोग्राम कम होकर 73 किलो पहुंच गया है। कुलदीप के अनुसार साइकिल सेहत के लिए तो ठीक है हीे लेकिन साथ में योजनाओं के प्रचार को गांवों में जाते हैं तो लोग उनकी बात को ध्यान से सुनते हैं।

फिलहाल डेंगू, मलेरिया व चिकनगुनिया का प्रचार

स्वास्थ्य विभाग की ओर से डेंगू माह का अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत वो अब डेंगू, मलेरिया व चिकनगुनिया के बारे में लोगों को जागरूक करनें के लिए गांव-गांव जा रहे हैं। इसके अलावा रूटीन में बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान के तहत लोगों को जागरूक करने के लिए साइकिल यात्रा करते हैं।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Edited By: Umesh Kdhyani