फतेहाबाद, जेएनएन। फ्यूचर मेकर एमडी बंसीलाल के दोस्त करनाल निवासी राजीव को एसआइटी जींद ने गिरफ्तार कर लिया है। बंसीलाल ने दोस्त राजीव और भाई प्रेम कुमार के साथ मिलकर हिमाचल प्रदेश समेत कई जगहों पर कंपनियां बनाईं और जमीन खरीदी। बंसीलाल फ्यूचर मेकर में आने वाले राशि को इन कंपनियों में निवेश कर रहा था।

इन कंपनियों को भाई प्रेम कुमार और दोस्त राजीव चला रहे थे। इसके चलते एसआइटी ने राजीव को भी करनाल से गिरफ्तार किया है। प्रेमकुमार पहले गिरफ्तार हो चुका है। राजीव को एसआइटी ने शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया। यहां से दो दिन के रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान एसआइटी ने कंपनी में निवेश हुई राशि और प्रॉपर्टी के दस्तावेज बरामद करने हैं।

आरोपित राजीव से पूछताछ में सामने आया है कि एमडी बंसीलाल ने फ्यूचर मेकर में निवेशकों द्वारा निवेश की गई राशि से हिमाचल प्रदेश के जिला सोलन के बद्दी में गायत्री इंडस्ट्रीज नाम से फैक्टरी खरीदी थी। इसके अलावा हिसार में मोटरसाइकिलों की एजेंसी खरीदी गई। फ्यूचर मेकर विवादों में आने बाद मोटरसाइकिलों को दिल्ली में बेच दिया गया। 22 एकड़ जमीन यमुनानगर में खरीदी गई।

3 एकड़ जमीन नीलोखेड़ी में भी खरीदी गई। करनाल में विराट बाजार के नाम से फर्म खोली गई। इसके अलावा करनाल में ब्राइट इवोल्यूशन के नाम से भी फर्म बनाई गई। जांच अधिकारी देसराज ने बताया कि दो दिन के रिमांड के दौरान एसआइटी राजीव से कंपनियों और जमीन के दस्तावेज बरामद करेगी। इसके अलावा दिल्ली में बेची गई मोटरसाइकिलों की राशि भी बरामद करनी है।

ये है मामला :

सदर पुलिस ने 8 सितंबर 2018 को भाजपा नेता अनिल सिहाग की शिकायत पर फ्यूचर मेकर लाइफ केयर कंपनी के खिलाफ केस दर्ज किया था। कंपनी के सीएमडी राधेश्याम और एमडी सुंदर को पुलिस तेलंगाना से प्रोडक्शन वारंट पर लाई थी। मामला दर्ज होने के बाद से एमडी बंसीलाल फरार था। 2 सितंबर को बंसीलाल ने फतेहाबाद में कोर्ट में सरेंडर किया था। इसके बाद पुलिस ने 12 दिन के रिमांड पर लिया था।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस