संवाद सहयोगी, हिसार : शहर में लुटेरे इतने बेखौफ हो गए हैं कि वो अब सिटी थाना व पुलिस चौकियों के पास भी वारदात को अंजाम देने से नहीं कतरा रहे। शनिवार रात करीब 11 बजे सिटी थाने समीप दो बाइक सवार नकाबपोश युवकों ने लूट के इरादे से पंचायत भवन में अकाउंटेंट पद पर कार्यरत कमल शर्मा पर ईटों से हमला कर उन्हें घायल कर दिया, जबकि उनकी पत्नी बाल-बाल बच गईं। शोर-शराबा सुनकर जैसे ही लोग घरों से बाहर निकले तो हमलावर वहां से फरार हो गए, जिसके बाद आसपास मौजूद लोगों ने घायल कमल शर्मा को नागरिक अस्पताल में दाखिल करवाया। साथ ही पुलिस को भी सूचना दी गई। बॉक्स :::

पत्नी को दवाई दिलाने गया था

सिटी थाने के समीप रहने वाले कमल शर्मा ने बताया कि शनिवार रात को अचानक पत्नी की तबीयत खराब हो गई, जिस कारण वह गाड़ी में उसे बिठाकर मॉडल टाउन समीप एक निजी क्लीनिक में ले गए। घर लौटते वक्त जब वे लक्ष्मीबाई चौक पर पहुंचे तो लूट के इरादे से दो नकाबपोश युवक बाइक पर सवार होकर उनका पीछा करने लगे। घायल कमल ने बताया कि नागोरी गेट आने पर उन्होंने गाड़ी बाजार की तरफ घुमा दी, लेकिन बाइक सवारों ने गाड़ी के आगे बाइक अड़ा दी। इसके बाद उन्होंने ईटों से गाड़ी पर हमला कर दिया। यह देख उन्होंने गाड़ी को सिटी थाना के पास ले गए। लेकिन हमलावरों ने गाड़ी का पीछा जारी रखा। सिटी थाने के पास पहुंचते ही जब कमल गाड़ी से बाहर निकले तो हमलावरों ने ईटों से उन पर पथराव कर उन्हें घायल कर दिया।

बॉक्स ::: मेन रोड रामभरोस, ड्यूटी पर नहीं था एक भी पुलिसकर्मी घायल कमल शर्मा ने बताया कि शहर में लक्ष्मीबाई चौक से लेकर नागोरी गेट मुख्य सड़क मानी जाती है, वह भी रात के समय रामभरोसे रहती है। घटना के दौरान जब वे लक्ष्मीबाई चौक से नागोरी गेट तक पहुंचे तो बीच रास्ते में एक भी पुलिसकर्मी ड्यूटी पर नहीं मिला।

Posted By: Jagran