झज्जर, जेएनएन। झज्‍जर में मिनी बाईपास स्थित कच्चा बेरी रोड गोलियों से छलनी करके रविवार रात को हुई युवक की हत्या की घटना सीसीटीवी में कैद हो गई। जिसमें साफ दिखाई दे रहे हैं कि आरोपित एक सफारी गाड़ी में सवार होकर आए और आते ही सीधे गांव खेड़ी खुम्मार निवासी युवक पर गोलियां बरसाना आरंभ कर दिया। जिसमें करीब एक दर्जन से अधिक गोलियां फायर की गई। गोलियां लगने के कारण युवक की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं मृतक का पोस्टमार्टम करवाया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए चिकित्सकों के बोर्ड ने उसका पोस्टमार्टम किया। चिकित्सकों ने पोस्टमार्टम के दौरान मृतक के शव से 9 गोलियां निकाली हैं।

खेड़ी खुम्मार निवासी राजेश ने बताया क उसका परिवार में भतीजा 23 वर्षीय आशुतोष उर्फ अमन मेहनत मजदूरी करता है। रविवार को उसके पास किसी भांडू नामक युवक का फोन आया। उसने फोन पर आशुतोष को मिलने के लिए बुलाया था। इसके बाद आशुतोष अपने दो साथियों के साथ वहां पर जा रहा था। जिस दौरान गाड़ी में सवार होकर आए बादमाशों ने गोलियों से छलनी कर दिया। जिस कारण उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वहीं घटना की सूचना मिलते ही पुलिस टीम भी मौके पर पहुंची और जांच में जुट गई। वहीं राजेश ने कहा कि आशुतोष को ही निशाना बनाया गया, जबकि उसके साथ गए दो अन्य साथियों को कुछ भी नहीं हुआ।

इसलिए पुलिस ने आशेतोष के साथ गए दोनों साथियों से भी पूछताछ की। ताकि हमलावरों की पहचान हो सके। लेकिन घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी फुटेज के अनुसार एक हमलावर की पहचान भोला के रूप में हुई है। हालांकि इसके खिलाफ कई अन्य आपराधिक मामले भी दर्ज बताए जा रहे हैं। हालांकि पुलिस इसकी जांच कर रही है। ताकि हमलावरों तक पहुंचा जा सके। वहीं पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम करवाकर शव स्वजनों को सौंप दिया।

 

करीब 25 सेकेंड में दिया हत्या को अंजाम

सीसीटीवी फुटेज के अनुसार रविवार रात करीब 9 बजकर 33 मिनट 20 सेकेंड पर आशुतोष मिनी बाईपास स्थित कच्चा बेरी रोड पर अपने दो दोस्तों के साथ गया हुआ था। इसी दौरान चार युवक सफारी गाड़ी में सवार होकर आए। उन्होंने आते ही सीधे गाड़ी रोकी और नीचे उतरकर आशुतोष पर गोलियां बरसानी आरंभ कर दी। फुटेज के अनुसार लग रहा है हमलावर पूरा विश्वास होने तक गोलियां मारते रहे। वहीं आशुतोष पर गोलियां बरसाते हुए देखकर उसके दोनों साथी वहां से भाग निकले। करीब 9 बजकर 33 मिनट 45 सेकेंड पर हमलावार वापस गाड़ी में बैठकर मौके से फरार हो गए।

 

दो बहनों का इकलौता भाई था आशुतोष

मृतक आशुतोष अपने मां-बाप का इकलौता बेटा था। हालांकि आशुतोष से दो छोटी बहने भी थी। लेकिन अब इकलौते बेटे की मौत ने उन्हें तोड़कर रख दिया। साथ ही दोनों बहनों पर भी दुखों का पहाड़ टूट चुका है। परिवान वालों को रो-रोकर बुरा हाल है। इकलौता भाई होने के कारण परिवार का भी लाड़ला था। लेकिन कुदरत को कुछ ओर ही मंजूर था।

दो साल की मासूम के सिर से उठा पिता का साया

आशुतोष को दो साल की बेटी है। आशुतोष की मौत के बाद उसकी बेटी जोया के सिर से भी पिता का साया उठ गया। अभी तो मासूम को पिता के साथ लाड़ प्यार का समय भी नहीं बिताया था। लेकिन उससे पहले ही इस तरह पिता का साथ छुट गया। हर कोई मासूम से दो साल की बच्ची को लेकर भी ङ्क्षचतित दिखाई दिया।

-घटना के बाद से पुलिस टीम हत्यारों को गिरफ्तार करने के लिए जुटी हुई है। पुलिस ने स्वजनों के बयान पर एक नामजद भोला व अन्य तीन युवकों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस भोला से संबंधित साक्ष्य जुटा रही है। वहीं आरोपितों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जा सके।

राजेश कुमार, थाना प्रभारी, सिटी पुलिस थाना, झज्जर।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस