डबवाली (सिरसा) जेएनएन। बुधवार सुबह चौटाला हाईवे पर गैस टैंकर ने बाइक चालक को कुचल दिया। हादसा इतना दर्दनाक था कि मृतक के चिथड़े उड़ गए। राहगीरों ने टैंकर चालक को पकड़कर खूब धुना। आक्रोशित लोगों ने टैंकर पर पथराव करने का प्रयास किया। लेकिन मौका पर पहुंची पुलिस ने स्थिति नियंत्रण में कर ली। लोगों ने पकड़े गए चालक को पुलिस के हवाले कर दिया। शव को पोस्टमार्टम के लिए उपमंडल नागरिक अस्पताल में लेजाया गया।

मृतक की पहचान 30 वर्षीय अमरजीत सिंह निवासी रामपुरा फूल हाल आबाद हनुमानगढ़ (राज.) के रुप में हुई है। वह मंगलवार शाम को डबवाली के वार्ड नं. 7 के सुंदर नगर में विवाहित बहन किरणदीप से मिलने आया था। बहन के पास रात गुजारने के बाद बाइक पर रामपुरा फूल में रह रहे अपने माता-पिता के पास जा रहा था।

सुबह करीब 9 बजे लघुसचिवालय तथा हुडा कॉलोनी के के मध्य हाईवे पर बने डिवाइडर को क्रॉस करते समय चौटाला गांव की ओर से आ रहे गैस टैंकर ने उसे कुचल दिया। हालांकि उसने सिर पर हेलमेट पहन रखा था। टैंकर तले सिर आने के कारण हेलमेट टूट गया। सीसीटीवी फुटेज से साफ पता चलता है कि डिवाइडर क्रॉस करते समय बाइक तथा टैंकर चालक ने एक-दूसरे को देखा तक नहीं। मानवीय गलती के कारण दर्दनाक हादसा हुआ।

मृतक का जीजा बोला-बाइक पर नहीं, ट्रेन पर जाने का प्लान था

वार्ड नं. 7 निवासी राकेश कुमार ने बताया कि उसके साले अमरजीत ने 10 बजे ट्रेन पर रामपुरा फूल जाना था। वह उसे घर छोड़कर डूमवाली स्थित ईंट भट्ठा पर मजदूरी करने गया ही था, कि उसके पास कॉल आई कि घर के नजदीक चौटाला हाईवे पर हादसा हो गया है। मैं खुद हैरान हूं कि ट्रेन पर जाने का इरादा बदलकर कैसे बाइक पर अपने पिता गंगा सिंह से मिलने जा रहा था।

तीन बहनों का इकलौता भाई, तो चार बच्चों का पिता था

दर्दनाक हादसे की सूचना पाकर मौका पर पहुंचे राकेश कुमार को पुलिसकर्मी ने टूटा हुआ हेलमेट पकड़ाया तो उसकी आंखे नम हो गई। उसने कहा कि अमरजीत तीन बहनों का इकलौता भाई था। डबवाली के अतिरिक्त उसकी दूसरी बहन हनुमानगढ़ तथा तीसरी बहन रामसरा में विवाहित है। मृतक बेहतरीन पेंटर था। उसके चार बच्चे दो बेटियां, दो बेटे हैं।

हर रोज होता है हादसा, सुरक्षा के प्रबंध होने चाहिए

डिवाइडर के ठीक सामने वर्कशॉप चलाने वाले हरजिंद्र सिंह ढिल्लों तथा सुखराज सिंह ने बताया कि चौटाला हाईवे पर स्थित वार्ड नं. 7 की गलियों के लोग तथा अनाज मंडी क्षेत्र या फिर हुडा कॉलोनी के लोग इसी डिवाइडर का प्रयोग करके अलग-अलग दिशाओं में जाते हैं। इसके लिए लोगों को हाईवे क्रॉस करना पड़ता है। आमने-सामने से वाहन इतनी तेज गति से आते हैं कि चालक को वाहन कंट्रोल करना मुश्किल हो जाता है। इस वजह से हर रोज हादसे होते हैं। यह ब्लाइंड कट बन चुका है। प्रशासन को यातायात सुरक्षा के प्रबंध करने चाहिए।

Posted By: Manoj Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप