झज्जर, जेएनएन। कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे आंदोलन स्‍थल के पास कसार गांव निवासी मुकेश मुदगिल को जिंदा जलाने के मामले में ब्राह्मण समाज में गहरा रोष पनप रहा है। समाज से जुड़े लोगों ने घटना की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए शुक्रवार को सबसे पहले जिला मुख्यालय स्थित श्री ब्राह्मण धर्मशाला में एक बैठक की। इसके बाद वे लघु सचिवालय में पहुंचे। 

मुख्यमंत्री के नाम पर प्रेषित ज्ञापन उपायुक्त एवं पुलिस कप्तान को सौंपते हुए समाज के लोगों ने अपनी नाराजगी व्यक्त की है। ज्ञापन में आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की प्रमुखता से मांग भी उठाई है। साथ ही कहा कि गांव के जिस व्यक्ति के साथ यह घटना हुई हैं, उनका परिवार काफी दयनीय स्थिति में है। सरकार के स्तर पर परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी एवं उचित आर्थिक मदद दी जानी चाहिए। इधर, एसपी राजेश दुग्गल ने आश्वस्त करते हुए कहा कि एक आरोपित को जद में लिया जा चुका है। जांच जारी है। अन्य आरोपित भी शीघ्र काबू कर लिए जाएंगे। 

बुधवार रात 3 बजे जिंदा जलाया था 

बता दें कि वीरवार को खेती कानूनों के विरोध में चल रहे आंदोलन में बड़ी घटना सामने आई थी। टीकरी स्थित हरियाणा-दिल्ली बॉर्डर पर कसार गांव के मुकेश को जबरन जला दिया गया। मृतक के भाई के बयान पर मामला दर्ज किया गया है। साथ ही एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें आग लगाने का आरोपित जातीय टिप्‍पणी करता नजर आ रहा है। घटना के बाद से पूरा आंदोलन एक बार फिर से सवालों के घेरे में है। घटना बुधवार रात करीब 3 बजे की है। आग लगाने के बाद आनन-फानन में मुकेश को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां कुछ घंटों के उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

शाम 5 बजे घूमने निकला था

पुलिस को दी शिकायत में गांव कसार निवासी मदन लाल पुत्र जगदीश ने बताया कि बुधवार शाम लगभग 5 बजे उसका भाई घर से घूमने के लिए निकला था। वह किसान आन्दोलनकारियों के पास पहुंच गया। फोन पर आई कॉल से पता चला कि भाई पर आंदोलनकारियों ने जान से मारने की नीयत से तेल छिड़ककर आग लगा दी। बहरहाल, वीरवार की इस घटना में डीसी श्याम लाल पूनिया और पुलिस कप्तान राजेश दुग्गल ने भी जाम लगा रहे लोगों को मौके पर पहुंचकर आश्वस्त किया था।

इन लोगों ने सौंपा ज्ञापन

इधर, ज्ञापन सौंपने वालों में मुख्य रूप से श्री ब्राह्मण महासभा के प्रधान देवराज, सेठ गोपाल गोयल, नरेश बेडवाल, केडी शर्मा, आजाद सिंह दीवान, बलवंत, मनीष दुजाना, बालकिशन, ईश्वर सुरेहती, पं. दीपक शर्मा, सुरेंद्र शर्मा, विष्णु गुड्ढ़ा, कमलेश अत्री, एडवोकेट ऋचा शर्मा, रमेश मास्टर, बलवान मदाना, ऋषभ पंडित आदि उपस्थित रहे।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें