जागरण संवाददाता,झज्जर। जिले में दूसरा मलेरिया का मरीज भी मिल गया है। गांव छारा निवासी एक महिला को मलेरिया की पुष्टि हुई है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने गांव पर फोकस किया। विभाग द्वारा गांव में फोगिंग करने के साथ-साथ आसपास के लोगों की भी जांच की जा रही है। ताकि कोई मलेरिया मरीज हो तो उसका उपचार किया जा सके। छारा निवासी महिला मरीज को मलेरिया होने की पुष्टि के बाद विभाग की टीमें निरंतर गांव में दौरा करने के साथ निगरानी भी रखे हुए हैं। वहीं विभाग ने अब तक 279 डेंगू आशंकितों के सैंपल लिए है। जो सभी सैंपल नेगेटिव आए। अभी तक जिले में डेंगू का एक भी मरीज नहीं मिला है। डेंगू व मलेरिया की रोकथाम के लिए विभाग की विभिन्न टीमें जुटी हुई हैं। फिलहाल जिले की स्थिति पिछले वर्षों के मुकाबले ठीक है। मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए जिले के 10 गांवों में फोगिंग करवाई जा चुकी है।

बरसात से जगह-जगह जलभराव

बरसात के दिनों में जगह-जगह जलभराव की स्थिति बनी हुई है। जिस कारण खड़े पानी में मच्छर का लारवा पैदा होने की संभावना रहती है। जो मच्छर बनकर डेंगू, मलेरिया व चिकनगुनिया जैसी बीमारी फैलाता है। इसकी रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीमें एंटी लारवा एक्टिविटी के तहत घरों, दुकानों, आफिस आदि भवनों व सार्वजनिक स्थानों की भी जांच कर रही है। कूलर, पानी की टंकी, होद आदि जल स्त्रोत की जांच की जाती है। अगर पानी में लारवा मिलता है तो उसे नष्ट किया जाता है। साथ ही जिसके यहां लारवा मिलता है उन्हें नोटिस भी थमाए जाते हैं। अब तक कुल 15 हजार 258 जगह पर लारवा मिल चुका है। विभाग की टीमें 5881 नोटिस दे चुकी है।

एंटी लारवा एक्टिविटी

टीम ने घरों का दौरा किया : 477448

घरों में मिला लारवा : 6306

कूलरों की जांच हुई : 190885

कूलरों में लारवा मिला : 2931

टंकियों की हुई जांच : 248211

टंकियों में लारवा मिला : 2225

कुल कंटेनर जांच किए : 125878

कंटेनर में लारवा मिला : 1409

कुल होदियों की जांच : 90250

होदियों में लारवा मिला : 1945

फ्रीज की ट्रे आदि की जांच : 29598

फ्रीज की ट्रे आदि में मिला लारवा : 442

पिछले वर्षों में डेंगू मलेरिया की स्थिति

वर्ष  डेंगू मलेरिया
2015    230 82
2016  45 88
2017 111 91
2018  56 68
2019 45
2020 27 11
 23 सितंबर 2021 तक  - 2

जिले में दो मलेरिया मरीज 

झज्जर की मलेरिया की नोडल अधिकारी एवं डिप्टी सिविल सर्जन डा. सरिता ने बताया कि अब तक जिले में दो मलेरिया के मरीज मिले हैं। दूसरा मलेरिया का मरीज गांव छारा की महिला है। गांव में मलेरिया की रोकथाम के लिए टीमें जुटी हुई है। फोगिंग व मलेरिया जांच पर ध्यान दिया जा रहा है। साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीमें एंटी लारवा एक्टिविटी चला रही है। डेंगू का एक भी मरीज नहीं मिला है।

Edited By: Rajesh Kumar