सिरसा, जागरण संवाददाता। सिरसा के डेरा सच्चा सौदा में शुक्रवार को 32वां महापरोपकार दिवस मनाया गया। इस अवसर पर शाह सतनाम जी धाम में नामचर्चा का आयोजन किया गया। बारिश के बावजूद श्रद्धालुओं के भारी उत्साह के सामने कई एकड़ में बना डेरा सच्चा सौदा का विशाल पंडाल छोटा पड़ गया। नामचर्चा के दौरान डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह द्वारा जेल से भेजी गई 12वी चिट्ठी पढ़ कर सुनाई गई। इस मौके पर डेरा प्रमुख का रिकार्डिड सत्संग सुनाया गया। नामचर्चा के पश्चात लंगर प्रसाद वितरित किया गया। 

जेल से आई डेरा प्रमुख की चिट्ठी

चिट्ठी में डेरा प्रमुख ने लिखा कि जब से डेरा सच्चा सौदा बना है तबसे लेकर आज तक आप सबको हमेशा राम-नाम से, मानवता व सृष्टि के भलाई के लिए व अच्छे कर्म व नि:स्वार्थ भावना से सबसे प्रेम करने के लिए प्रेरित किया था, कर रहे हैं व हमेशा करते रहेंगे। डेरा प्रमुख ने अनुयायियों को सदैव एकता बनाए रखने व गुरु के वचनों को मानने का प्रण कराया। 

डेरा प्रमुख ने लिखा कि आप सबको हम याद नहीं करते क्योंकि एक पल भी आपको भुलते ही नहीं हम। हर समय आप सबके लिए शाह सतनाम व शाह मस्तान जी से, हम आपके हर अच्छे कार्य व सेहत के लिए प्रार्थना करते रहते हैं। डेरा प्रमुख ने लिखा कि सतगुरु जी आपको नई खुशियां व आप सबकी सबसे बड़ी मांग जल्द से जल्द पूरी करें। वर्णनीय है कि डेरा प्रमुख द्वारा भेजी गई चिट्ठियां पहले भी नामचर्चा कार्यक्रम में पढ़ कर सुनाई गई है। 

इस मौके पर डेरा प्रवक्ता जितेंद्र खुराना ने कहा कि डेरा प्रमुख को जल्द पैरोल मिलने की संभावना है। डेरा प्रमुख ने सदैव कानून का सम्मान किया है। पहले भी पैरोल मिलने के बाद निर्धारित तिथि को वापस चले गए थे। उन्होंने कहा कि जेल प्रशासन जहां की भी पैरोल मंजूर करेगा, उसके बाद डेरा प्रमुख वहीं आएंगे।

Edited By: Naveen Dalal