जागरण संवाददाता, भिवानी। लुधियाना भिवानी धुरी रेल गाड़ी पंजाब में किसान आंदोलन के चलते रद्द कर दी गई है। भिवानी क्षेत्र के लोगों के लिए यह गाड़ी रद्​द होने से लुधियाना और इस मार्ग पर जाने वालों को परेशानी से दो चार होना पड़ेगा। भिवानी से प्रतिदिन इस गाड़ी में 400 से ज्यादा यात्री यात्रा करते हैं। गाड़ी रद्​द होने से यात्रियों को बसों का सहारा लेना पड़ रहा है। यात्रियों के अनुसार रेलवे का सफर सस्ता और सुविधाजनक है। मजबूरी वश उनको दूसरे वाहनों में यात्रा करनी पड़ रही है। 

दोपहर 12:30 बजे आकर शाम चार बजे होती है रवाना

रेलवे अधिकारियों के अनुसार लुधियाना भिवानी धुरी रेलगाड़ी लुधियाना से चल कर भिवानी दोपहर 12:30 बजे पहुंचती है। इसके बाद यह गाड़ी यहां से शाम चार बजे धुरी के लिए रवाना होती है। इस गाड़ी में प्रतिदिन 400 से ज्यादा यात्री यात्रा करते हैं। रेल अधिकारियों के अनुसार पंजाब में किसानों के आंदोलन के चलते रेलवे की सुरक्षा को देखते हुए यह रेल गाड़ी रद्​द करने का निर्णय लिया गया है। यात्री भी इसमें सहयोग बनाए रखें। 

यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है

यात्री संदीप कुमार, विकास और रोहित ने बताया कि वह भिवानी से लुधियाना के लिए काम से आते जाते रहते हैं। यह गाड़ी रद्​द होने से यहां से पंजाब जाने वाले यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 

आंदोलनकारी गाड़ियों को न रोकें, आंदोलन के दूसरे तरीके बहुत हैं

दैनिक रेल यात्री जन कल्याण संघ के प्रधान महावीर डालमिया ने बताया कि किसान हों चाहे कोई दूसरे आंदोलनकारी कम से कम रेल सेवाओं को प्रभावित न करें। रेलगाड़ी का आम आदमी सबसे ज्यादा  प्रयोग करते हैं। लोकतंत्र में अपने अधिकारों की आवाज उठाना हर किसी का अधिकार है। वह आंदोलन कर सकते हें। कम से कम रेल सेवाओं को प्रभावित न करें। इससे आम आदमी प्रभावित होता है। 

Edited By: Rajesh Kumar