संवाद सहयोगी, नारनौंद : गांव बुडाना में शराब ठेकेदारों और ग्रामीणों के बीच हुआ झगड़ा तुल पकड़ता जा रहा है। ठेकेदार पक्ष के लोगों ने उपमंडल कार्यालय में जमकर सरकार व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। वहीं डीएसपी जोगिंद्र राठी ने दोनों पक्षों को आमने सामने बैठाकर मामले की जांच की।

गांव बुडाना में पिछले दिनों ग्रामीणों और शराब ठेकेदारों के बीच हुए झगड़े को लेकर शुक्रवार को ठेकेदारों के पक्ष ने ग्रामीण उपमंडल कार्यालय में सरकार और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उन्होंने प्रशासन के अधिकारियों से मांग करते हुए कहा कि सरपंच व उसके साथियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई की जाए। हंगामा बढ़ता देख डीएसपी जोगिन्द्र राठी ने दोनों पक्षों को बुलाया। ठेकेदारों की तरफ से अमित बागड़ी, रविन्द्र व संजीव ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि 11 और 12 सितंबर को सरपंच व उसके आदमियों ने उनके साथ मारपीट की और सरपंच अमित बागड़ी को अगवा करके अपने घर पर ले गया। जहां पर उसके साथ मारपीट की।

गांव के सरपंच रणधीर ¨सह ने कहा कि ठेकेदारों ने गांव के माहौल को खराब कर रखा है। हमें गांव में शांति चाहिए। शराब के ठेकेदारों ने गांव के लोगों के साथ गाली गलौज करके उनके साथ ज्यादती कर रहे हैं। डीएसपी ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद उन्हें गांव भेज दिया और दोनों पक्षों से गांव में शांति रखने की अपील की है। बॉक्स

इस संबंध में डीएसपी जोगिन्द्र राठी ने बताया कि दोनों पक्षों को बुलाकर मामले की गहनता से जांच की है। इस मामले में जो भी कानूनी कार्रवाई होगी वो कर दी जाएगी। गांव में फिलहाल पूर्ण रूप से शांति है। दोनों पक्षों को कानून हाथ में न लेने की चेतावनी दी है।

Posted By: Jagran