सिरसा/हिसार, जेएनएन। करवा चौथ पर्व के अवसर पर बुधवार को महिलाओं ने अपने पति की स्वास्थ्य व लंबी उम्र की कामना के लिए व्रत रखा। महिलाओं ने घरों व मंदिरों में एक साथ व्रत कथा सुनी व पूजन किया। महिलाएं दिन भर व्रत रखेंगी और रात को चंद्रमा के दर्शन व पूजन के बाद ही व्रत खोलेंगी। करवा चौथ पर्व को लेकर बाजारों में भी खूब रौनकें दिखाई दी। फेस्टिवल सीजन में दुकानदारों ने दुकानों में आकर्षक सजावट की है और तरह तरह के डिस्टाउंट ऑफर देकर ग्राहकों को रिझा रहे हैं।

-------------

हरियाणा के सभी शहरों में आज रात आठ बजकर 32 मिनट पर चंद्रमा के दर्शन होंगे। महिलाएं दिन भर उपवास रखेंगी। करवा चौथ पर हलवाइयों की दुकानों पर चीनी के करवे, फैन्नी, मट्ठी की खूब डिमांड रही वहीं फलों की दुकानों पर भी खूब ग्राहक उमड़े। करवा चौथ को लेकर सामाजिक संस्थाओं द्वारा व्रत कथा का सामूहिक आयोजन किया गया था।

--------

ऐलनाबाद में पतंजलि योग परिवार द्वारा चल रही योग कक्षा में भाग लेने वाली महिलाओं ने भी व्रत रखा। हाथों पर मेहंदी सजाई। मुख्य योग शिक्षक हेमराज सपरा ने ओउम् गायत्री मंत्र व प्रार्थना के साथ योग प्राणायाम का अभ्यास करवाया और करवा चौथ पर्व की हार्दिक बधाई दी। करवा चौथ व्रत की महिमा के बारे में बताया कि सबसे पहले यह व्रत शक्ति स्वरूपा देवी पार्वती ने भोलेनाथ के लिए रखा था। इस व्रत से उन्हें अखंड सौभाग्य की प्राप्ति हुई थी। इसलिए सुहागिनें अपने पतियों की लंबी उम्र की कामना के लिए यह व्रत करती है और देवी पार्वती और भगवान शिव की पूजा करती हैं। योग शिक्षिका गीता बैनीवाल ने बताया कि कार्तिक माह की चतुर्थी को करवा चौथ व्रत रखने की परंपरा है। योग क्लास में करवा चौथ का पर्व सभी महिलाओं ने नाच गाकर बड़े ही उत्साह के साथ मनाया।

Edited By: Manoj Kumar