हिसार, जेएनएन। खाप पंचायत द्वारा चौटाला परिवार को एकजुट करने के लिए शुरू की गई मुहिम का दुष्‍यंत चौटाला द्वारा राजनीतिक तौर पर समर्थन नहीं किए जाने पर अब नया विवाद उपज गया है। खुद जेजेपी नेता उमेद लोहान ने दुष्‍यंत चौटाला के लिए आज गांव सिसाय में सद्बुद्धि यज्ञ किया है।

उमेद लोहान ने दुष्‍यंत चौटाला के फैसले पर नाराजगी जताते हुए नारनौंद से जेजेपी प्रत्‍याशी रामकुमार गौतम का विरोध करने का ऐलान किया है। उन्‍होंने कहा जल्द ही कार्यकर्ताओं से सलाह मशवरा करके आगे की रणनीति तय की जाएगी। ऐसे में जेजेपी के अंदर ही फूट पनपने से अब चुनाव किस दिशा में जाएंगे इसे लेकर नया समीकरण बन सकता है।

वहीं खाप पंचायत भी दुष्‍यंत चौटाला को माफी मांगने के लिए कह रही है। साथ ही खाप पंचायत प्रतिनिधियों ने भी एक पंचायत कर दुष्‍यंत चौटाला को लेकर फैसला करने की बात कही है। ऐसे में हो सकता है कि खाप पंचायत भी कोई अहम फैसला ले ले। मगर ठीक चुनाव से पहले शुरू हुआ यह विवाद चर्चा में बन गया है।

बता दें कि हाल में ही खाप पंचायत ने चौटाला परिवार को एक करने की मुहिम शुरू की थी। इसमें अभय चौटाला ने फैसला खाप पर छोड़ दिया था। मगर दुष्‍यंत चौटाला की ओर से कोई विशेष सकारात्‍मक रुख देखने को नहीं मिला था। दुष्‍यंत ने किसी भी फैसला लेने को लेकर पिता अजय चौटाला से बात करने की बात कही थी। इस पर खाप पंचायत का कहना था कि वो टाल रहे हैं।

इसके बाद शनिवार को रोहतक में हुई एक बैठक में खाप पंचायत ने अपनी नाराजगी जाहिर की और कहा कि वो चौटाला परिवार को एक करने की मुहिम को खत्‍म कर रहे हैं। अगर दुष्‍यंत चौटाला ने साथ दिया होता तो यह मुहिम सिरे चढ़ जाती। खाप नेता रमेश दलाल ने दुष्‍यंत चौटाला पर कई तरह के आरोप भी लगाए।

वहीं दुष्‍यंत चौटाला का कहना था कि वो चौटाला परिवार को अगर एक करना चाहते हैं तो पारिवारिक तौर पर करें, न की राजनीतिक तौर पर। राजनीतिक तौर पर अब एक साथ मिलकर चल पाना मुश्किल है। वहीं उनका कहना था कि वो किसी एक नेता को पूरी खाप नहीं कह सकते। जब अजय को चौटाला परिवार से अलग कर दिया गया था तो तब किसी खाप ने परिवार को एक करने के लिए हाथ क्‍यों नहीं बढ़ाया। इसलिए राजनीतिक तौर पर हम साथ नहीं आ सकते।

इसके अलगे ही दिन यानि आज जेजेपी नेता उमेद लोहान ने दुष्‍यंत चौटाला के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। जेजेपी के गठन और इसके बाद इसमें शामिल हुए उमेद लोहान का इस तरह से विरोध करना कई तरह के राजन‍ीतिक इशारे कर रहा है।

Posted By: Manoj Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप