फतेहाबाद, जेएनएन। कोरोना संक्रमण संकट में जिलावासियों के लिए हर दिन कुछ न कुछ राहत लेकर आ रहा है। जिले में जिस गति से संक्रमण दर बढ़ रहा था उसमें लगातार कमी आ रही है। पिछले पांच दिनों में संक्रमण दर 30.01 फीसद तक घट चुकी है जो अपने आप में सुधार की तरफ संकेत दे रहा है। लेकिन जिलावासियों को आंकड़े देखकर लापरवाही बरतने की कतई जरूरत नहीं है। अगर आने वाले 15 दिनों तक हम ऐसे ही नियमों का पालन करेंगे तो काफी हद तक इस संक्रमण पर अंकुश लगा लेंगे।

मई महीना जिलावासियों के लिए भारी रहा है। इस महीने रिकॉर्ड मरीज मिलने के साथ ही मृत्यु दर भी तेजी से बढ़ी है। जिले में इसी महीने 6 मई को संक्रमण दर 46.56 था जो 11 मई को घटकर 16.55 हो गई है। ऐसा नहीं है कि स्वास्थ्य विभाग ने सैंपल कर कर दिए है। लेकिन सैंपल अधिक लेने व रिपोर्ट भी अधिक आने के बावजूद आंकड़ों में सुधार हो रहा है।

लॉकडाउन का दिखा असर

प्रदेश में इस समय लॉकडाउन चल रहा है। केवल आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को खोलने की अनुमति है। यहीं कारण है कि लोग अपने घरों में है। इस कारण संक्रमण दर भी कम आई है। लेकिन मई महीने में जिले में 11 मई तक 3554 मरीज आ चुके है तो वही 109 लोग दम भी तोड़ चुके है। पिछले महीने अप्रैल में 4200 मरीज आए थे और 85 की मौत भी हुई थी। लेकिन इस बार 11 दिनों में ही मौत का आंकड़ा 104 तक पहुंच गया है। सात दिन पहले जिले में मृत्यु दर 3 फीसद थी जो अब घटकर 2.41 फीसद पर पहुंच गई है।

1 से 11 मई में मिले कोरोना मरीज

तिथि   मरीज मिले   ठीक हुए  मौतें

1 मई   291         9     6

2 मई     216      406   13

3 मई     356     223   11

4 मई     377     238   19

5 मई     282    32     9

6 मई     454    340     15

7 मई     382    237     10

8 मई     224    289     8

9 मई      386    217    4

10 मई     311     334    3

11 मई     275     361    6

कुल      3554    2686   109

अब जाने पिछले कुछ दिनों का जिले का संक्रमण दर

6 मई  : 46.56

7 मई  : 38.02

8 मई  :  31.02

9 मई  :  32.74

10 मई  : 26.88

11 मई : 16.55

--------------------------------------------------

अब पिछले कुछ महीनों के आंकड़ों पर डाले नजर

मार्च महीने की स्थिति

मरीज मिले : 354

मौत हुई    : 4

---------------------------

अप्रैल महीने में मरीज : 4200

मौत हुई           :  85

 

----जिले में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। लेकिन अभी भी हमें सावधानी रखनी जरूरी है। अगर हम घर पर रहेंगे तो इस संक्रमण को हम जल्द दूर कर सकेंगे। ग्रामीणों को भी ध्यान रखने की जरूरत है। जरूरी ना हो तो घर से बाहर ना निकले। मास्क लगाए और दो गज की दूरी का ध्यान रखे। इस संक्रमण से बचने का यही तरीका है।

डा. हनुमान सिंह, डिप्टी सिविल सर्जन फतेहाबाद।