हिसार, जेएनएन। ऋषि नगर स्थित श्मशान घाट में एक अलग ही तरह का विवाद देखने को मिला। जहां एक विवाहिता का अंतिम संस्कार करने पर जमकर हंगामा हुआ। आसपास के लोगों और श्मशान प्रबंधन तक को एक बारगी समझ नहीं आया कि आखिर क्या हो रहा है। क्योंकि एक ओर विवाहिता के लिए चिता बनी हुई थी। दूसरी ओर लोग आपस में हाथापाई कर रहे थे। मौके पर मौजूद लोगों ने पुलिस को  श्मशान घाट में चल रहे घटनाक्रम की जानकारी दी। सूचना मिलते ही एचटीएम थाना पुलिस मौके पर पहुंची तो सच्चाई जान हैरान रह गई। सैनियान मोहल्ला निवासी 22 वर्षीय नीतू की ससुरालजनों ने दहेज की मांग को लेकर हत्या कर दी। ससुरालपक्ष के लोग गुपचुप तरीके से ऋषिनगर स्थित श्मशान घाट में शव का अंतिम संस्कार कर रहे थे।

तभी विवाहिता नीतू के मायके वाले पहुंच गए और अंतिम संस्कार रुकवाया। पुलिस ने चिता से विवाहिता का शव निकालकर अपने कब्जे में ले लिया। जिसे नागरिक अस्पताल के शवगृह में रखवाया गया है। शुक्रवार को चिकित्सकों की टीम मृतका नीतू का पोस्टमार्टम करेगी। एचटीएम थाना पुलिस ने मृतका के पति समेत चार  ससुरालजनों के खिलाफ दहेज हत्या और शव खुर्द-बुर्द करने का केस दर्ज किया है। पुलिस ने मामले के एक आरोपित को हिरासत में लिया है।

11 माह पहले हुई थी शादी, दहेज के लिए करते थे तंग

मृतका के चचेरे भाई बिमलेश कुमार ने बताया कि वे मूलरूप से उत्तर प्रदेश जिला कनौज के भवानीपुर के निवासी हैं। उसके ताऊ की बेटी नीतू की शादी सैनियान मोहल्ला निवासी कुलदीप के साथ 27 अप्रैल 2018 को की थी। शादी के बाद ससुरालजन दहेज की मांग को लेकर नीतू को तंग करने लगे। वे उससे साथ मारपीट करते थे। बिमलेश ने बताया कि नीतू ने बुधवार को अपने भाई विपिन के पास फोन कर कहा था कि ससुराल वाले दहेज के लिए मारपीट कर रहे हैं, तुम आकर मुझे ले जाओ। वीरवार दोपहर को 12 बजे कुलदीप ने फोन कर बताया कि नीतू की तबीयत खराब है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया है। बिमलेश ने बताया कि वह हिसार पहुंचा तो भनक मिली कि नीतू की मौत हो चुकी है।

श्मशान घाट में हंगामा होने पर पुलिस के पास पहुंची सूचना

बिमलेश कुमार और अन्य सूचना मिलने पर शाम को ऋषिनगर के श्मशान घाट में पहुंचे। कुलदीप और उसके परिजन उनको देखकर हैरान रह गए। वहां मायका और ससुराल पक्ष के लोगों के बीच हाथापाई हो गई। इस बीच किसी ने पुलिस के कंट्रोल रूम में फोन कर बता दिया कि ऋषिनगर के श्मशान घाट में कुछ लोग गुपचुप युवती का अंतिम संस्कार करना चाह रहे है और वहां हंगामा हो रहा है। कुछ देर बाद एचटीएम थाना प्रभारी कंवर ङ्क्षसह और डोगरान मोहल्ला चौकी इंचार्ज दयानंद ने श्मशान घाट में पहुंचकर चिता से निकालकर शव कब्जे में ले लिया।

संस्कार करने वाले थे, तभी पहुंच गए मायके वाले

श्मशाम घाट के कर्मचारी रामशरण ने बताया कि करीब 6 बजे चंद लोग एक शव लेकर आए थे। उन्होंने संस्कार करने के लिए शव लकडिय़ों पर रख दिया था। वे अर्थी को अग्नि देने वाले थे कि विवाहिता का भाई तीन-चार अन्य के साथ पहुंच गया। वहां दोनों पक्षों में हाथापाई हुई। पुलिस मौके पर पहुंचकर शव कब्जे में लेकर चली गई। 

मृतका के गले पर हैं नीले निशान

पुलिस का कहना है कि मृतका के गले पर नीले निशान हैं। मृतका के परिजनों ने बताया है कि गला दबाकर हत्या की गई है। शव को सिविल अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है। शुक्रवार को शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत के सही कारणों का खुलासा हो जाएगा। इस संबंध में केस दर्ज कर लिया है।

--मृतका के चचेरे भाई बिमलेश कुमार की शिकायत के आधार पर चार ससुरालजनों के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज किया है। बयान के आधार पर मृतका के पति कुलदीप, ससुर राधेश्याम, सास श्यामा देवी और ननद पूजा को आरोपित बनाया है।

-कंवर सिंह, एसएचओ एचटीएम थाना, हिसार।

Posted By: manoj kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप