भिवानी, जेएनएन। छोटा सा विवाद किस जघन्‍य अपराध की शक्‍ल ले ले, कह पाना मुश्किल है। भिवानी जिले के गांव में हुई घटना ऐसा ही जाहिर कर रही है। जहां एक विवाद ने पति और पत्‍नी की जिंदगी को निगल लिया। वहीं पांच मासूमों के सिर से मां बाप का साया उठ गया। गांव खरक कलां में रविवार को घरेलू विवाद में एक व्यक्ति ने कुल्हाड़ी से पत्नी की गर्दन काटकर हत्या कर दी आर बाद में खुद भी जहर खाकर जान दे दी। व्यक्ति का शव रेलवे ट्रैक के पास मिला।

गांव खरक कलां निवासी राजरूप ने बताया कि उसका बेटा अजीत(38) गांव में ही सफाई कर्मी लगा हुआ था। वर्ष 2003 में बीमारी के कारण उसकी पहली पत्नी सीमा की मौत हो गई थी। सीमा से अजीत को पहले तीन बच्चे थे। पांच साल पहले ही अजीत की दूसरी शादी गांव सुडाना निवासी अंजू(32) से की थी। अंजू के भी पहले पति की मौत हो चुकी थी। उसकी दो लड़कियां हैं। मौजूदा समय में अजीत और अंजू के बीच अनबन चल रही थी। तीन माह से अंजू अपनी मां के घर सुडाना रोहतक गई हुई थी। उसे तीन दिन पहले ही अजीत गांव लेकर आया था।

अजीत ने रविवार को बच्चों को एक कमरे में बंद कर दिया और सो रही पत्नी अंजू की गर्दन पर कुल्हाड़ी से कई वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद वह भागकर रेलवे ट्रैक की तरफ चला गया और आत्महत्या के लिए ट्रेन का इंतजार किया। ट्रेन के नहीं आने पर उसने जहरीला पदार्थ निगलकर आत्महत्या कर ली। सूचना मिलते ही खरक कलां चौकी पुलिस उसके घर पर पहुंची। खरक चौकी पुलिस ने महिला के शव को सामान्य अस्पताल पहुंचाया। वहीं जीआरपी चौकी इंचार्ज सुशील कुमार ने रेलवे ट्रैक के पास मिले अजीत को शव को सामान्य अस्‍पताल में पहुंचाया। गांव में मातम पसरा हुआ है।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस