हिसार, जेएनएन। हरियाणा कर्मचारी आयोग (HSSC) की क्‍लर्क भर्ती परीक्षा में तीन दिनों में प्रदेश में आठ लोगों की मौत हो गई तो वहीं करीब दस से भी ज्‍यादा लोग घायल हो गए। आवेदक ज्‍यादा होने के कारण कहीं भीड़ के कारण हादसा हो गया तो कोई रात को हादसे का शिकार हो गया। पहला हादसा 21 सितंबर को परीक्षा के पहले दिन हिसार में बरवाला से हांसी मार्ग पर गांव राजली के बस अड्डे पर हुआ था। इसमें अंबाला में परीक्षा देने जा रहे खैरी गांव के दो सगे भाइयों की मौके पर ही मौत हो गई थी।

वहीं, परीक्षा के अंतिम दिन हिसार से करनाल परीक्षा देने आई कार सवार एक युवती की मौत हो गई। जबकि भाई-बहन सहित चार परीक्षार्थी घायल हो गए। इसके अलावा कैथल से अंबाला परीक्षा देने जा रहे मोटरसाइकिल सवार जखौली निवासी दो सगे भाइयों की जान चली गई। वहीं, यमुनानगर में भी परीक्षा देने जा रहे छप्परपुरा थाने के नंदनपुरा गांव के 30 वर्षीय राजेश कुमार की हार्ट अटैक होने से मौत हो गई। चरखी दादरी में कार टकराने से पानीपत की महिला की मौत हो गई।

हिसार में ट्रेन पर सवार फतेहाबाद के युवक की जान चली गई। भीड़ ज्‍यादा होने के कारण उसका संतुलन बिगड़ गया और वह ट्रैक पर ही गिर गया। ऐसे में परीक्षा के दौरान आठ लोगों की जान चली गई। वहीं करीब दस से भी ज्‍यादा लोग घायल हो गए।

भीड़ के कारण बेहोश हुई तो बैग से चुरा लिए 2 हजार रुपए

एनएसटीआइ पानीपत की छात्रा व हिसार निवासी ज्योति अपनी बहन प्रीति को परीक्षा दिलवाने 7 घंटे का सफर तय करके शनिवार सुबह सिरसा पहुंची थीं, लेकिन सिरसा से वापस जाने लगे तो ट्रेन में भीड़ के कारण बेहोश हो गई। ज्योति के हाथ में बैग था, जिसमें 2 हजार रुपये की नकदी भी थी, बेहोश होते ही किसी ने बैग से रुपये निकाल लिए।

बता दें कि एचएसएससी ने 4858 पदों पर क्‍लर्क भर्ती परीक्षा 21 से 23 सितंबर तक पांच शिफ्टों में आयोजित कर वाई थी। इसमें करीब 15 लाख से ज्‍यादा आवेदन आए थे। हालांकि परीक्षा देने वालों की संख्‍या 65 फिसदी ही रही। मगर तीन दिनो तक बस स्‍टैंड व रेलवे स्‍टेशनों पर भयंकर भीड़ देखने को मिली। इसमें कुछ अभ्‍यर्थी हादसों के शिकार हो गए।

 

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस