जेएनएन, हांसी, हिसार : आजकल के बच्चे जहां कार्टून और इंटरनेट को प्राथमिकता देते हैं। वहीं कुछ बच्चे अब भी ऐसे हैं जो बुजुर्गो की तरह ही धार्मिक कामों में रुचि रखते हैं। इन्हीं में से एक पात्र हांसी की भी है। जो टीवी पर कथावाचक चित्रलेखा की कथा सुनकर कृष्णा कालोनी निवासी 10 साल की बच्ची इस कदर प्रभावित हुई कि अपने परिजनों को बताए बिना कथा सुनने के लिए बस में सवार होकर होडल के लिये निकल पड़ी। काफी तलाश के बाद बच्ची के परिजनों ने सोमवार को परिजनों ने पुलिस को युवती की गुमशुदगी की सूचना दे दी। शिकायत मिलते ही पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए युवती की तलाश शुरू कर दी और मोबाइल की लोकेशन ट्रेस कर युवती को 24 घंटे के भीतर होडल से बरामद कर लिया। बच्ची सकुशल मिलने होने पर पुलिस व परिजनों ने राहत की सांस ली है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार छठी कक्षा में पढ़ने वाली बच्ची के पिता बाहर नौकरी करते है और वह कृष्णा कालोनी में अपने चाचा नरेश के पास रहती है। चाचा ने बताया कि वह प्रतिदिन टीवी पर चित्रलेखा की कथा का कार्यक्रम देखती थी और रोजाना उनसे दिल्ली, होडल व मुम्बई जाने की जानकारी लेती रहती थी। चाचा भी इस बात को गंभीरता से न लेते हुए उन्हें जानकारी देते रहते थे। बच्ची ने टीवी पर चित्रलेखा के अगले कार्यक्रम का शेड्यूल पता किया व संपर्क सूत्र से पूरी जानकारी एकत्रित कर ली। सोमवार शाम को बच्ची अपने चाचा का फोन लेकर घर से चली गई और बस में बैठ कर दिल्ली पहुंच गई। युवती के घर से गायब होने सूचना मिलते ही परिजनों में हड़कंप मच गया और परिजनों ने अपने स्तर पर युवती की तलाश की। बच्ची होडल में जिस स्थान पर चित्रलेखा की कथा सुनने के लिए गई थी वहां कोई ऐसा कार्यक्रम ही आयोजित नहीं था। काल डिटेल व लोकेशन से युवती को सकुशल बरामद कर लिया गया है और युवती को सही सलामत परिजनों को सौंप दिया गया है।

- उदयभान गोदारा एसएचओ।

Posted By: Jagran