हिसार, जेएनएन। जिले में कोरोना को लेकर लोग लगातार लापरवाही बरत रहे हैं। शहर के एक निजी अस्पताल के रसूखदार डाक्टर ने घर के बाहर लगा क्वारंटाइन का पोस्ट फाड़ दिया। साथ ही दोबारा पोस्ट लगाने पहुंचे अधिकारी और कर्मचारियों को धमकी दी कि आप यहां पोस्टर कैसे लगा सकते हो मेरी पहुंच ऊपर तक है। इस मामले में डा. रमेश पूनिया ने उच्च अधिकारियों को लिखित में शिकायत दी है। दरअसल इस निजी अस्पताल के संचालक का बेटा कोरोना पॉजिटिव मिला था। स्वास्थ्य विभाग ने 26 जुलाई को क्वारंटाइन का पोस्टर अस्पताल के गेट के बाहर 14 दिन के लिए लगाया था।

लेकिन अस्पताल संचालक ने क्वारंटाइन का समय पूरा होने से पहले पोस्टर को फाड़ दिया। किसी ने इस मामले की शिकायत स्वास्थ्य विभाग के डा. रमेश पूनिया को की। शिकायत मिलने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम उक्त कोरोना पॉजिटिव मरीज के घर पहुंची। यहां अस्पताल के उपर ही घर बनाया गया है। लेकिन विभाग की टीम ने चेक किया तो क्वारंटाइन का पोस्टर हटाया जा चुका था। टीम ने जब दोबारा पोस्टर लगाने का प्रयास किया तो अस्पताल के संचालक ने धमकी भरे लहजे में कहा पोस्टर छत पर कमरे के बाहर लगा दो। साथ ही कहा कि अस्पताल के सामने लगाने की क्या जरूरत है। जबकि अस्पताल और घर का एक ही प्रवेश द्वार है।

ऋषि नगर के पॉजिटिव डाक्टर पहुंचे देहरादून, मामला दर्ज

हिसार : ऋषि नगर में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद एक डाक्टर को स्वास्थ्य विभाग ने होम क्वारंटाइन कर दिया था। लेकिन वह क्वारंटाइन के नियमों का उल्लंघन कर देहरादून चले गए। विभाग ने डाक्टर के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करा दिया है। पुलिस के अनुसार 25 जुलाई को रिपोर्ट में डाक्टर कोरोना पॉजिटिव मिला था। होम क्वारंटाइन होने के बावजूद 31 जुलाई को वह पीजी में दाखिले को लेकर देहरादून चले गए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021