जागरण संवाददाता, हिसार। हिसार लोकसभा क्षेत्र के सांसद बृजेंद्र सिंह ने रेलमंत्री अश्वनी वैष्णव से मुलाकात कर हिसार स्टेशन यार्ड के पास रेलवे की खाली पड़ी जमीन पर मैनलाइन इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट के मेंटेनेस शेड या इलेक्ट्रिक लोको शेड बनवाए जाने का आग्रह किया है। मुलाकात के दौरान रेलमंत्री का आभार जताते हुए उन्होंने कहा कि लोकसभा क्षेत्र हिसार को रेल मंत्रालय का भरपूर सहयोग मिला है। हिसार को हाल ही में कई लंबी दूरी की ट्रेनों की सौगात मिली है। लंबी दूरी की गाडिय़ों के संचालन से हिसार व इसके आस-पास के अन्य जिले भी अब बेहतर तरीके से दिल्ली-एनसीआर व देश के अन्य राज्यों से जुड़ जाएंगे।

सांसद बृजेंद्र ने रेलमंत्री को अवगत करवाया कि हिसार स्टेशन यार्ड के पास रेलवे की जमीन पर विभिन्न ऑयल कंपनियों द्वारा अपना-अपना स्टोरेज प्लांट स्थापित किया गया था, प्लांट के विस्तार और घनी आबादी के मद्देनजर तमाम ऑयल कंपनियों ने स्टोरेज प्लांट को शहर से बाहर ले जाने का निर्णय लिया और फिलहाल, सभी कंपनियों के डिपो शहर से बाहर जा चुके है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन अनुसार रेलवे मंत्रालय संपूर्ण भारतीय रेलवे नेटवर्क का विद्युतीकरण कर रहा है, जिसके पश्चात रेलवे नेटवर्क पर तमाम इलेक्ट्रिक इंजन द्वारा संचालित ट्रेन व मेमू ट्रेनों का अत्यधिक संचालन होगा। सांसद ने कहा कि नई दिल्ली से 180 किमी की दूरी पर स्थित हिसार स्टेशन मेरे लोकसभा क्षेत्र का मुख्य स्टेशन है। यहां राज्य सरकार द्वारा केंद्र सरकार के सहयोग से 7200 एकड़ में एविएशन हब का निर्माण किया जा रहा है, जिसमे इंटरनेशनल एयरपोर्ट के अलावा कार्गो एयरपोर्ट और अन्य निर्माण इकाइयों की स्थापना होगी। हिसार से दिल्ली को तीव्र गति से जोडऩे हेतु रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा राज्य सरकार के सहयोग से रोहतक-महम-हाँसी रेलवे लाइन का निर्माण भी किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि भविष्य में मेमू गाड़ियों के बढ़ते संचालन को देखते हुए इनके रख-रखाव हेतु इंफ्रास्ट्रक्चर का भी विस्तार आवश्यक होगा। इसलिए हिसार स्टेशन यार्ड के साथ लगते रेलवे की इस जमीन पर मैनलाइन इलेक्ट्रिक मल्टिपल यूनिट (मेमू) के मेंटेनेस शेड का निर्माण किया जाए जिससे आम जनता व रेलवे को विभिन्न फ़ायदे होंगे। एयरपोर्ट को देखते हुए हिसार-दिल्ली के बीच मेमू गाडिय़ों का संचालन बढ़ेगा व अन्य पैसेंजर गाडि़य़ों को भी मेमू रेक के साथ संचालन किया जा सकेगा।

फिलहाल मेमू गाडिय़ों का रखरखाव शकूरबस्ती में होता है, जिनका रखरखाव भी हिसार में किया जा सकेगा। इससे दिल्ली पर भी दवाब कम होगा तथा गाडिय़ों के अंदर बेहतर सफाई व्यवस्था कायम होगी। मेमू गाडिय़ां अधिक फेरे लगा सकेगी। सांसद बृजेंद्र सिंह ने कहा कि उत्तर भारत खासकर दिल्ली के आस-पास कोई अन्य मेमू शेड नही है, अगर हिसार में रेलवे की खाली पड़ी जमीन पर मेमू शेड बनाया जाता है तो इससे न केवल यात्रियों को फायदा होगा अपितु रेलवे को भी वाणिज्यिक लाभ मिलेगा। इससे क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर भी सृजन होंगे। उन्होंने रेलमंत्री को प्रस्ताव देते हुए कहा कि इस जमीन के सामने रेलवे यार्ड में 700-800 मीटर लंबी 3 से 4 लूप लाइन है व आटोमेटिक कोच, वाशिंग प्लांट सहित वाशिंग यार्ड भी है जिन्हें मेमू गाडिय़ों के स्टेबलिंग के लिए व वाशिंग के लिए प्रयोग किया सकेगा।

Edited By: Manoj Kumar