हिसार, जेएनएन। अतिरिक्त उपायुक्त अनीश यादव ने कहा कि सरल पोर्टल राज्य सरकार की एक महत्वाकांक्षी परियोजना है, जो सेवा के अधिकार कानून के तहत आने वाली सेवाओं को समयबद्ध तरीके से आमजन को उपलब्ध करवा रही है। यह बात आज उन्होंने सरल पोर्टल की समीक्षा बैठक के दौरान कही। उन्होंने बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए कि सरल पोर्टल पर लम्बित सेवाओं को प्राथमिकता के आधार पर दूर करें, ताकि आमजन लाभाविंत हो सके।

उन्होंने निर्देश दिए कि इस बारे अधिकारी स्वयं रूचि लें ताकि जिले के स्कोर को बढ़ाया जा सके। अतिरिक्त उपायुक्त ने संबंधित विभागाध्यक्षों से सरल पोर्टल पर उपलब्ध करवाई जा रही सेवाओं बारे विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने सेवाओं के निपटान मामलों में पुलिस तथा अनुसूचित जाति एवं  पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की सराहना की। इसी प्रकार से अन्य विभाग भी अपने लंबित मामलों का जल्द से जल्द निपटारा करते हुए आरटीएस पोर्टल पर अपलोड करवाना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर हांसी के एसडीएम जितेंद्र अहलावत, हिसार के एसडीएम अश्वीर नैन, सीएमजीजीए सौम्या सहित संबंधित विभागों के अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

दुनिया में इन्सानियत से बड़ा कोई और धर्म नहीं : उपायुक्त

हिसार। दुनिया में इन्सानियत से बड़ा कोई और धर्म नहीं है। समाज के कमजोर तबके की भलाई के लिए यथा योग्य समर्थ लोगों को आगे आना चाहिए। श्रीराम कृपा ट्रस्ट के तत्वाधान में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने यह बात कही। हिसार से प्राचार्य के पद से सेवानिवृत तथा वर्तमान में न्यूजीलैंड में रह रहे हरिशरण उप्पल तथा रमाशशि उप्पल की प्रेरणा व योगदान से स्थापित श्रीराम कृपा ट्रस्ट की ओर से कार्यक्रम के दौरान ऐसी 15 छात्राओं को 10-10 हजार रुपये की सहायता राशि के चैक वितरित किए गए, जिनके पिता का देहांत हो चुका है।

इसके अतिरिक्त सामाजिक कार्यों में लगे पुनर्वास एवं दिव्यांग केंद्र के अध्यक्ष रामनिवास अग्रवाल को भी सम्मानित किया गया और उनकी संस्था के लिए 11 हजार रुपये की राशि का चैक दिया गया। इस संस्था द्वारा कृत्रिम अंग वितरण तथा नि:शुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर आयोजित किए जाते हैं।

उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने छात्राओं को सहायता राशि के चैक वितरित करते हुए उनकी हौंसला अफजाई की और कहा कि यदि वे किसी लक्ष्य को लेकर कड़ी मेहनत के साथ आगे बढ़ती हैं तो कोई बाधा उनका रास्ता नहीं रोक सकती। उन्होंने छात्राओं से कहा कि शिक्षा एक ऐसा माध्यम है जो सभी कमजोरियों को दूर करते हुए हमें मजबूत बनाती है। यदि हमारा लक्ष्य बड़ा है तो उसके लिए हमें उतनी ही कड़ी मेहनत करनी होगी। उन्होंने श्री राम कृपा ट्रस्ट द्वारा किए जा रहे सामाजिक कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि मानव होने के नाते हमें अभाव ग्रस्त व जरूरतमंद लोगों की अवश्य ही मदद करनी चाहिए। इससे बड़ा पुनीत कार्य कोई नहीं है।