रोहतक, जेएनएन। लिंग जांच के नाम पर रुपये ठगने वाले  दलाल को रोहतक और झज्जर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मेडिकल मोड के पास से पकड़ लिया। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि दलाल अलग तरीके से महिलाओं का अल्ट्रासाउंड कराता था और फिर झांसा देता था कि उनके गर्भ में बेटा पल रहा है।

स्वास्थ्य विभाग को सूचना मिली थी कि रोहतक में मेडिकल मोड़ के पास चल रहे एक अल्ट्रासाउंड सेंटर पर ङ्क्षलग जांच की जाती है। इसके आधार पर स्वास्थ्य विभाग की रोहतक और झज्जर टीम ने संयुक्त रूप से वहां पर छापेमारी की योजना बनाई। टीम ने एक महिला को दलाल अनूप के पास भेजा। अनूप ने महिला को सुनारिया गांव के पास बुलाया और वहां पर रुपयों को लेकर सौदा तय हुआ। इसके बाद दलाल उक्त महिला को लेकर अल्ट्रासाउंड सेंटर पर पहुंचा।

लेकिन वहां पर डाक्टरों ने बिना डाक्टर की पर्ची के अल्ट्रासाउंड करने से मना कर दिया। तब जाकर दलाल ने भिवानी रोड स्थित एक डाक्टर से महिला की पर्ची बनवा दी और कहा कि इसे पेट में दर्द है। फिर वह दोबारा से अल्ट्रासाउंड सेंटर पर पहुंचा। जिसके बाद सेंटर पर सभी कागजी कार्रवाई पूरी कर महिला का अल्ट्रासाउंड कराया गया। बाहर आकर दलाल ने कहा कि आपको बेटा है।

लेकिन अल्ट्रासाउंड सेंटर के अंदर से ऐसी कोई जानकारी नहीं दी गई। तभी स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दलाल को मौके पर ही पकड़ लिया। स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच कर रही है कि दलाल को कैसे पता चला कि बेटा है या फिर वह लोगों से इसी तरह से रुपये ठगता है। फिलहाल पूछताछ की जा रही है।

 

---सूचना मिली थी कि मेडिकल मोड स्थित एक अल्ट्रासाउंड सेंटर पर ङ्क्षलग जांच की जाती है। हालांकि शुरूआती जांच में सेंटर पर ऐसा कुछ नहीं मिला, लेकिन सेंटर के बाहर से डोभ गांव के रहने वाले अनूप को पकड़ा गया है, जो महिलाओं से रुपये ठगता था।

- डा. अनिल बिरला, सिविल सर्जन रोहतक।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस