जेएनएन, हिसार : सिविल लाइन पुलिस ने एचएयू के एक कालेज के एक डिपार्टमेंट के एचओडी मोहन लाल बंसल के खिलाफ बंधक बनाकर दुष्कर्म करने, जान से मारने की धमकी देने, पॉक्सो और एससी-एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया। इस संबंध में उनकी मेड ने पुलिस को शिकायत दी थी। इसके बाद पुलिस ने एचओडी को गिरफ्तार भी कर लिया, वहीं माममे की जांच की जा रही है। आदमपुर एरिया की 16 साल की एक लड़की ने रविवार रात को अपने मोबाइल फोन से पुलिस के कंट्रोल रूम में फोन कर कहा था कि उसकी मदद करो। उसके साथ दुष्कर्म हुआ है। कुछ देर बाद पुलिस बताई गई कोठी नंबर 244 पर पहुंच गई। पुलिस लड़की को साथ लेकर सिविल लाइन पहुंची। किशोरी ने बताया कि उसके पिता ने दूसरी शादी की है और वे उनसे अलग रहते हैं। उसके एक धर्म भाई ने 20 दिन पहले उसे मोहन लाल की कोठी पर खाना बनाने के लिए प्रतिमाह 5000 रुपये में लगवाया था। वह साफ-सफाई भी करती थी। मोहन लाल के परिवार के सदस्य विदेश में रहते हैं। वह कोठी में अकेला रहता है। मैं रविवार रात को अपने ऊपर वाले कमरे से नीचे किचन में आई थी। मोहन लाल ने उसे कमरे में बुलाकर कमरा बंद कर उसके साथ दुष्कर्म किया। वह बाद में उसके चंगुल से छूटकर वापस ऊपर कमरे में गई और अपने मोबाइल से पुलिस कंट्रोल रूम में सूचना दी। सिविल लाइन थाना पुलिस ने इस संबंध में नामजद के खिलाफ केस दर्ज किया है।

बता दें कि आरोप एचएयू के एक विभाग के एचओडी सेक्टर-15 निवासी मोहन लाल बांसल पर लगाया गया है। पुलिस ने मंगलवार को आरोपित को अदालत में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

Posted By: Jagran