जागरण संवाददाता, हिसार। हरियाणा में फिर मौसम ने करवट बदली है। 10 दिनों से ज्यादा समय तक बेरुखी के बाद आखिरकार मानसून ने हरियाणा में फिर दस्तक दी है। हिसार, झज्जर, रोहतक समेत हरियाणा के कई जिलों में सुबह से बारिश हो रही है। मौसम खुशनुमा बना हुआ है। गर्मी से लोगों को राहत मिली है।

दक्षिण पश्चिम मानसून की हवा ने हिमालय की तलहटियों से निकलकर एक बार फिर हरियाणा का रुख किया है। इसका प्रभाव शुक्रवार सुबह से ही दिखाई देने लगा। बादल छाने और हवा चलने के कारण काफी देर तक तो गर्मी कम रही। दोपहर साढ़े 11 बजे बूंदाबांदी भी हुई मगर कुछ देर में रुक गई। 12 बजे के बाद फिर से तेज धूप निकली तो लोगों को गर्मी का अहसास हुआ। शनिवार सुबह ही बूंदाबांदी और बारिश शुरू हो गई।

अधिकतम तापमान 3 डिग्री तक लुढ़का

इस मौसम की लुकाछिपी का सीधा असर तापमान पर पड़ता दिखाई दिया। हिसार में दिन का तापमान सामान्य से तीन डिग्री घटकर 33.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि रात्रि तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रहा। अभी तक हिसार में दिन का तापमान 38 डिग्री सेल्सियस के आस पास चल रहा था। मौसम विज्ञानियों ने 23 जुलाई तक इसी प्रकार के हालात बनने की अंदेशा जताया है।

मौसम में इसलिए हुआ परिवर्तन

बंगाल की खाड़ी में बने एक कम दबाब के क्षेत्र व साथ में साइक्लोनिक सर्कुलेशन बनने से मानसून टर्फ दक्षिण की और नीचे की तरफ आया है। 23 अगस्त तक बीच-बीच में राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में हवा व गरज चमक के साथ बारिश होने की संभावना है। इससे दिन के तापमान में गिरावट होने की संभावना है। इस दौरान उत्तरी व दक्षिण पूर्व हरियाणा के कुछ एक स्थानों पर तेज बारिश की भी संभावना है।

अभी तक मानसून ब्रेक का प्रदेश कर रहा था सामना

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. मदन खिचड़ ने बताया कि मानसून की टर्फ रेखा का पाश्चिमी छोर 10 अगस्त से हिमालय की तलहटियों की तरफ बढ़ने के कारण राज्य में मानसूनी हवाएं कमजोर हो जाने से मानसून ब्रेक की सिथति बनी हुई थी। इससे हरियाणा में मौसम आमतौर पर परिवर्तनशील व खुश्क बना हुआ था।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Edited By: Umesh Kdhyani