जागरण संवाददाता, भिवानी। पिछले साल 18-19 दिसंबर को संचालित हुई हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा (HTET) में जिन अभ्यर्थियों के अनुचित साधन सम्बन्धी केस (UMC) दर्ज हुए थे उनकी अब सुनवाई होगी। ऐसे अभ्यर्थियों को हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड मुख्यालय पर व्यक्तिगत सुनवाई के 20 जनवरी को प्रात: 9.30 बजे बुलाया गया है। हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा-2021 में जिन अभ्यर्थियों के सीसीटीवी लाइव फुटेज के आधार व परीक्षा केंद्रों पर अनुचित साधन प्रयोग संबंधी केस (UMC) दर्ज किए गए है उनकी सूचना बोर्ड कार्यालय द्वारा सम्बन्धित अभ्यर्थी को एसएमएस के माध्यम से अलग से दी जा रही है।   

शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष डा. जगबीर सिंह एवं सचिव कृष्ण कुमार ने बताया कि अनुचित साधन (यूएमसी) सम्बन्धी अभ्यर्थियों की सूची बोर्ड वैबसाईट www.bseh.org.in पर भी उपलब्ध करवाई गई है। उम्मीदवार वैबसाइट पर जानकारी ले सकते हैं। 

एचटेट के तीनों लेवल की परीक्षा में पकड़े गए थे 23 मामले

हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा (HTET) के तीनों लेवल में 23 मामले नकल के सामने आए थे। इनमेें 19 दिसंबर को लेवल-2 और लेवल-1 की परीक्षा में 15 अनुचित साधन प्रयोग के मामले पकड़े गए थे। इससे पहले 18 दिसंबर को हुई परीक्षा में आठ मामले पकड़े गए थे। परीक्षा में नकल करते हुए पकड़े गए सभी परीक्षार्थियों को सीसीटीवी कैमरों से देखकर पकड़ा गया। इ

291 परीक्षा केंद्रों पर एक लाख 87 हजार 951 ने दी थी परीक्षा

हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा 18 और 19 दिसंबर को संचालित हुई थी। इसमें 291 परीक्षा केंद्रों पर 1,87,951 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए थे। 18 दिसम्बर शनिवार को लेवल-3(PGT) की परीक्षा सांयकालीन सत्र में 3:00 बजे से 5:30 बजे तक हुई थी और इसमें 244 परीक्षा केन्द्रों पर 70,733 अभ्यर्थी प्रविष्ट हुए। इसी प्रकार 19 दिसम्बर को प्रात:कालीन सत्र में 10:00 बजे से 12:30 बजे तक लेवल-2(टीजीटी) की परीक्षा का संचालन हुआ था जिसमें 267 परीक्षा केन्द्रों पर 77,510 अभ्यर्थी परीक्षा देने पहुंचे। लेवल-1(पीआरटी) की परीक्षा का संचालन सांयकालीन सत्र में 3:00 बजे से 5:30 बजे तक हुआ था जिसमें 140 परीक्षा केन्द्रों पर 39,708 अभ्यर्थी परीक्षा के निर्धारित थे। 

अभ्यर्थी निर्धारित तिथि को सुनवाई के लिए पहुंचना सुनिश्चित करें : अध्यक्ष 

बोर्ड अध्यक्ष डा. जगबीर सिंह ने बताया कि ऐसे सभी अभ्यर्थी 20 जनवरी को प्रात: 9.30 बजे व्यक्तिगत सुनवाई के लिए बोर्ड मुख्यालय, भिवानी पर पहुंचना सुनिश्चित करें। ऐसे मामलों की कमेटी सुनवाई करेगी। जो अभ्यर्थी समय पर पहुंच कर सुनवाई में अपना पक्ष नहीं रखेगा वह इसके लिए स्वयं जिम्मेदार होगा। 

Edited By: Rajesh Kumar