जागरण संवाददाता,झज्जर : शुक्रवार से फिर स्कूलों में विद्यार्थियों की चहल-पहल लौटने वाली है। वायु प्रदूषण के कारण झज्जर ही नहीं एनसीआर में आने वाले प्रदेश के चार जिलों के प्राइवेट व सरकारी स्कूलों को बंद किया गया था। जिसके कारण विद्यार्थी घर पर ही रहे। एक तो कोरोना महामारी के कारण पहले ही स्कूल खुलने में देरी हुई है। अब वायु प्रदूषण के कारण करीब दो सप्ताह का समय स्कूल बंद होने के कारण विद्यार्थियों की पढ़ाई नहीं हो पाई। ऐसे में विद्यार्थी भी पढ़ाई को लेकर काफी चिंतित नजर आ रहे हैं, खासकर बोर्ड परीक्षाओं में पढ़ाई करने वाले विद्याथी। विद्यार्थियों को बाधित होती बढ़ाई की चिंता सता रही है। ऐसे में विद्यार्थी भी स्कूल खुलने का इंतजार कर रहे थे। जो अब स्कूल खुलने की अनुमति मिल गई है।

वायु प्रदूषण के कारण स्कूलों को बंद किया गया था। लेकिन अब जिले का वायु प्रदूषण का स्तर काफी कम हुआ है। जिससे बाद स्कूल खोलने का निर्णय लिया गया है। शुक्रवार को फिर से सभी स्कूलों में विद्यार्थी पहुंचेंगे। इसको लेकर स्कूल प्रशासन द्वारा भी तैयारी की गई हैं। ताकि स्कूल में पहुंचने वाले विद्यार्थियों को कोई परेशानी ना हो। इसके साथ ही विद्यार्थियों की पढ़ाई भी नियमित हो पाएगी। साथ ही विद्यार्थी अब फिर से अपने सहपाठियों के संग पढ़ाई करते नजर आएंगे। अब बोर्ड कक्षाओं के फार्म भी भरने की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है। ऐसे में अगर स्कूल बंद रहेंगे तो बोर्ड कक्षाओं के फार्म भरने में भी दिक्कत आएगी।

जिले की बात करें तो हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड से जुड़े हुए करीब 265 प्राइवेट स्कूल और 524 सरकारी स्कूल हैं। बोर्ड के आठवीं से 12वीं के परीक्षा फार्म भरने की प्रक्रिया 21 नवंबर से आरंभ हो चुकी है और फार्म भरने के लिए 5 दिसंबर अंतिम तिथि निर्धारित की हुई है। इस अवधि में ही फार्म भरने होंगे। अन्य जिलों के स्कूलों में फार्म भरने की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है, लेकिन झज्जर के स्कूल बंद होने के कारण प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई। लेकिन अब फार्म भरवाए जाएंगे।

Edited By: Manoj Kumar