जागरण संवाददाता, झज्जर : बिजली निगम को घाटे से फायदे की स्थिति में लेकर आए कैबिनेट मंत्री रणजीत सिंह चौटाला सोमवार को भाजपा की ठोस ढंग से पैरवी करते नजर आए। स्पष्ट शब्दों में कहा कि अगले बीस साल तक न तो केन्द्र में और न ही प्रदेश से भाजपा हिल पाएगी। वे सोमवार को लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में बिजली से जुड़ी लोगों की शिकायतें सुनने आए थे। समस्याएं सुनने के बाद रणजीत चौटाला मीडिया के रूबरू हुए।

बिजली संकट पर अपनी बात रखते हुए कहा कि अब संकट ना के बराबर है। जहां से भी जिस भाव में बिजली मिल रही है खरीद रहे है और संकट को खत्म कर रहे हैं। महंगी और सस्ती का ध्यान नहीं रखा जा रहा।सीएम के स्पष्ट निर्देश है कि लोगों को समस्या नहीं होनी चाहिए।

गर्मी की वजह से हर साल प्रदेश में बिजली की खपत बढ़ने की बात कही। लेकिन, साथ ही यह भी कहा कि अन्य राज्यों की तुलना में हरियाणा में काफी अच्छे हालात है। आने वाला समय सोलर का है, सूबे में जल्द ही यमुनानगर में 720 मैगावाट का सौर उर्जा का बिजली कारखाना लगाया जाएगा।

जनता के बीच अपनी बात रखते हुए और बाद में मीडिया से बातचीत में चौटाला ने एक मित्र के नाते पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा को कांग्रेस छोडऩे की सलाह दे डाली। कहा कि जहां सम्मान न मिलें वह स्थान छोड़ देना चाहिए। कारण कि अब कांग्रेस व्यक्ति विशेष की पार्टी बनकर रह गई है। ऊपरी स्तर पर सोनिया कांग्रेस व हरियाणा में हुड्डा कांग्रेस। हां, यह तो ठीक है कि अपने नाम पर हुड्डा कुछ विधायकों को जीता ले जाएंगे। लेकिन, सरकार बनेगी यह तय नहीं।

पुराना उदाहरण देते हुए कहा कि चौ. चरण सिंह, चौ. देवीलाल व चौ. बंसीलाल सहित अनेक ऐसे नेता हुए हैं जिन्होंने कांग्रेस छोड़ी तो भविष्य उज्ज्वल हुआ। बिजली मंत्री ने अपना अगला चुनाव भाजपा से लड़ने का इशारा दिया। कहा कि चाहे लोस हो या विधानसभा, यह समय बताएगा। हालांकि, बातचीत में यह दर्द भी जरूर दिखा कि कांग्रेस से टिकट नहीं मिली थी।

चौटाला ने कहा कि आज के समय में देश भर में धीरे-धीरे क्षेत्रीय दलों का वजूद खत्म हो रहा है। लेकिन, परिवार के नाते जजपा-इनेलो पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। ऐसे में जनता को चाहिए कि वह रास्ता न भटके और अपना व अपने देश का वजूद कायम करने के लिए राष्ट्रीय दल को चुनें।

कांग्रेस द्वारा उदयभान को अध्यक्ष बनाने व चार कार्यकारी अध्यक्ष बनाने पर बिजली मंत्री ने कहा कि इसी से पता चलता है कि वे कहा खड़े हैं। साथ ही यह कहा कि अगले चुनाव से पहले हर हाल में हुड्डा को कांग्रेस छोडऩी पड़ेगी। क्योंकि, टिकट बांटने के समय में हर कोई अपना हक जताएगा।

Edited By: Manoj Kumar