जागरण संवददाता, हिसार। अभी तक हरियाणा में बारिश नहीं हो रही की बात सुनाई दे रही थी मगर अब झमाझम लंबी बारिश से जलभराव की स्थिति के बाद लोग कह रहे हैं कि यह कब रुकेगी। मगर अभी राहत नहीं मिलने वाली है। हालांकि जिन जगहों पर नहरी पानी की सिंचाई की व्‍यवस्‍था नहीं है या कम वहां बारिश फायदेमंद हैं मगर जहां पानी की मात्रा ज्‍यादा है वहां बारिश से फसलें खराब हो रही हैं। मौसम विभाग की मानें तो प्रदेश के कुछ जिलों में बारिश ओर भी गंभीर रूप ले सकती है। यही कारण है कि भारत मौसम विज्ञान विभाग ने मेवात, पलवल, फरीदाबाद, झज्जर, गुरुग्राम, रेवाड़ी, महेंद्रगढ़ व रोहतक में यलो अलर्ट जारी किया है।

इस यलो अलर्ट की मानें तो यहां पांच अगस्त तक तेज बारिश के साथ तूफान आने की संभावना जताई जा रही है। ऐसे में अपने आप को इस समस्या से बचाकर रखें। जहां भी अत्यधिक बारिश से जलभराव की स्थिति सामने आए प्रशासन को सूचित करें। अभी हरियाणा के कई गांवों और खेतों में घुटनों तक पानी भरा हुआ है और फसलें खराब हो रही है। कुछ जगहों पर बारिश से कोई नुकसान नहीं हुआ है।

एनसीआर में पहले ही हो चुकी है अत्यधिक बारिश

एनसीआर क्षेत्र में पहले से ही अधिक बारिश हो चुकी है। अब दोबारा बारिश हुई तो यहां हालात खराब हो सकते हैं। इसके लिए स्थानीय प्रशासन भी अलर्ट हिै। इसी के हिसार में पिछले दिनों हुई बारिश से शहर के कई सेक्टरों में बारिश से जलभराव हो गया तो गांव में लोगों के कमर तक पानी भर गया। जिससे ग्रामीणों को खेतों में काफी दिक्कत हो रही है। पाबड़ा, नारनौंद का वास, बरवाला के कुछ गांवों में काफी अधिक पानी भर गया।

हिसार जोन में अभी अधिक बारिश नहीं

हिसार जोन के जिलों में ग्रीन अलर्ट पर हैं। यहां अधिक बारिश की संभावना नहीं है। मगर हल्की बारिश कभी भी हो सकती है। शनिवार को जहां धूप निकलने से गर्मी बढ़ गई थी तो रविवार सुबह से ही मौसम में परिवर्तन हो गया। सुबह से ही बादलों से आसमान घिरा हुआ है और ठंडी हवा ने मौसम सुहाना बनाया है। मौसम विज्ञानियों की मानें तो हिसार मे अगले कुछ घंटों में बारिश होने की संभावना है। हिसार में भी कुछ क्षेत्र ऐसा हैं जहां पानी भरा हुआ है। प्रशासन इस पानी को निकालने का इंतजाम भी नहीं कर रहा है। कुछ गांवों में तो घरों में दरारें आ गई हैं।

Edited By: Manoj Kumar