जागरण संवाददाता, हिसार : गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय की स्थापना दिवस के उपलक्ष्य पर रविवार को विश्वविद्यालय के गुरु जम्भेश्वर जी महाराज धार्मिक अध्ययन संस्थान में हवन यज्ञ किया गया। यज्ञ के मुख्य यजमान विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार थे। उनके साथ उनकी धर्मपत्नी प्रो. सुनीता श्रीवास्तव भी उपस्थित रही। इस वर्ष विश्वविद्यालय की स्थापना का रजत जयंती वर्ष है। कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने बताया कि विश्वविद्यालय के रजत जयंती वर्ष के उपलक्ष्य पर इस वर्ष कार्यक्रमों की एक श्रृखंला का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। संबंधित कमेटियों का गठन कर दिया गया है। हवन यज्ञ से कार्यक्रमों की शुरुआत हो गई है। कुलपति ने विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस पर समूचे विश्वविद्यालय परिवार व सेवानिवृत कर्मचारियों को बधाई दी। यज्ञ आयोजन की देखरेख गुरु जम्भेश्वर जी महाराज धार्मिक अध्ययन संस्थान के अधिष्ठाता व चेयरमैन प्रो. किशना राम ने की। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के शिक्षक, कर्मचारी, शोधार्थी व विद्यार्थी उपस्थित रहे।

--------------------

जीजेयू को 20 अक्टूबर को 1995 में बनाया गया था। रविवार को जीजेयू को बने हुए 25 वर्ष पूरे हुए। गुरु जंभेश्वर यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी विश्वविद्यालय ए ग्रेड विश्वविद्यालय है। इसमें मौजूदा समय में 6 हजार के करीब विद्यार्थी स्टडी कर रहे है। वहीं 50 से अधिक कोर्सेज चलाए जा रहे हैं। कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने बताया कि विश्वविद्यालय की ओर से विद्यार्थियों के लिए निरंतर सुविधाओं का विकास किया जा रहा है। हाल ही में दीन दयाल उपाध्याय इनोवेशन सेंटर भी जीजेयू में स्थापित किया गया है। जिसमें रिसर्च कार्यो को बढ़ावा देने के लिए विद्यार्थियों व बाहरी लोगों के बेस्ट आइडियाज पर उनको फंड उपलब्ध करवाया जाता है ताकि वो अपने आइडिया पर प्रोडक्ट तैयार कर सके। इससे विद्यार्थी व बाहरी व्यक्ति भी एंटरप्रेन्योरिशप की दिशा में कदम बढ़ा सकेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस