जागरण संवाददाता, हिसार :

गांव बालसमंद के ग्रामीणों के लिए राहत का समाचार है। बस स्टैंड न होने के कारण परेशानी झेलने वाले ग्रामीणों को साल 2020 में बस स्टैंड की सुविधा मिल जाएगी। हिसार बस स्टैंड से 27 किलोमीटर की दूर पर बसे गांव बालसमंद में बस स्टैंड निर्माण के लिए ठेकेदार की ओर से निर्माण सामग्री डलवाने का कार्य शुरु कर दिया है। आगामी वर्ष में ग्रामीणों को कड़ी धूप हो या बारिश में बसों के इंतजार खुले आसमान के नीचे नहीं करना होगा। बल्कि उन्हें बस स्टैंड की सुविधा मिला पाएगा। इसके लिए बीएंडआर विभाग बस स्टैंड निर्माण करवा रहा है।

90 लाख की लागत से होगा निर्माण

बस स्टैंड का निर्माण 90 लाख की लागत से होगा। पीडब्ल्यूडी बीएंडआर के अधिकारी के अनुसार सब ठीक रहा तो यह निर्माण एक साल यानि जून 2020 तक पूरा हो जाएगा। सात कनाल में बनने वाले इस बस स्टैंड में तीन बसों के स्टॉपेज बनाए जाएंगे। एक समय में यहां तीन बसें खड़ी हो जाएगी। इसके अलावा इसमें पार्किंग, शौचालय और स्टॉपेज बनाया जाएगा। साथ ही सवारियों के लिए बैठने की उचित व्यवस्था होगी।

लंबे समय बाद ग्रामीणों को मिली राहत

गांव के सरपंच महेंद्र कुमार ने बताया कि कई सालों से गांव में बस स्टैंड की मांग थी। उस मांग पर अब कार्य शुरु हुआ है। ठेकेदार ने निर्माण सामग्री डलवा दी है। गांव में करीब 15 से 20 हजार की जनसंख्या है। बस स्टैंड के निर्माण से बालसमंद गांव के साथ साथ आसपास के गांवों को भी बड़े स्तर पर लाभ होगा। वर्तमान में यहां 2-3 बसें ही रुकता है। बस स्टैंड बनने से दूर दराज की बसें भी यहां रुक पाएगी। जिससे ग्रामीणों को देर रात तक बस सुविधा मिल पाएगी। इसके अलावा बालसमंद गांव के पास राजस्थान का एरिया भी लगता है। यानि दूसरे राज्य के लोगों को भी इस बस स्टैंड का लाभ मिल पाएगा।

--------------

बस स्टैंड निर्माण का टेंडर लोकसभा चुनाव से पहले ही हो चुका है। अब निर्माण कार्य शुरु किया जाएगा। बीएंडआर विभाग की देखरेख में करीब 90 लाख की लागत से बस स्टैंड का निर्माण होगा। इससे ग्रामीणों को बड़े स्तर पर लाभ होगा।

- मुकेश कुमार, जेई, बीएंडआर हिसार।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस