हांसी, जेएनएन। ओटीपी नंबर पूछकर बैंक खाते से पैसे निकालने में माहिर शातिर ठगों ने उमरा गांव के एक किसान अजीत सिंह के खाते से 123088 रुपये की नकदी निकाल ली। शातिर ठगों ने खाते में दिए गए मोबाइल नंबर पर फोन कर बैंक अधिकारी होने का हवाला देते हुए ओटीपी नंबर बताने को कहा था जिस पर अजीत सिंह ने ठगों के झांसे में आकर ओटीपी नंबर बता दिया।

बताया गया कि पलवल जिले से शातिर ठगों ने करीब 10 बार बैंक में ट्रांजेक्शन कर किसान अजीत सिंह के खाते से 123088 रुपये की नकदी निकाल ली। अजीत सिंह की शिकायत पर सदर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। अजीत सिंह ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि उसका मोबाइल फोन घर पर था। एक व्यक्ति द्वारा बैंक अधिकारी होने की बात कर उनसे ओटीपी नंबर पूछ लिया।

उन्होंने बताया कि उसके खाते में करीब 2 लाख 20 हजार रुपये की नकदी जमा थी और बैंक से नकदी निकलने की डिटेल उसके मोबाइल पर नहीं आ रही थी बल्कि यह मैसेज आ रहा था कि इस मोबाइल नंबर से ट्रांजेक्शन कर उसके खाते से नकदी निकलवाई गई है। जिस पर उन्होंने गांव के एसबीआई बैंक में जाकर तुरंत अपना खाता ब्लॉक करवा दिया। बैंक से जानकारी लेने पर पता लगा कि उसके खाते से 123088 रुपये की नकदी निकल चुकी थी।

मोटरसाइकिल पर पर्स छीन कर भागे दो युवक दोषी करार

हिसार : पिता के साथ घर जा रही युवती का पर्स छीन कर फरार हुए बाइक सवार दो युवकों चौथा मिल ढाणी निवासी लक्की उर्फ कुलबीर, आंबेडकर बस्ती निवासी विकास को सेशन जज अरुण कुमार ङ्क्षसगल की अदालत ने दोषी करार दिया है। दोनों को 10 फरवरी को सजा सुनाई जाएगी। अदालत में चले अभियोग के अनुसार शिव नगर निवासी रामेश्वर दास अपनी बेटी के साथ 2 जनवरी 2019 को घर जा रहा था। उसी दौरान पीछे से बाइक सवार युवक आए और उसकी बेटी के हाथों से पर्स छीन कर ले गए। पुलिस ने मामला दर्ज कर दो युवकों को गिरफ्तार किया था। अब सेशन जज की अदालत ने दोनों को दोषी करार दिया है।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस