हिसार, जेएनएन। क्रिकेट के मैदान में चौके-छक्के लगाने वाले पूर्व आइएएस सांसद की पिच पर मैच खेलने को तैयार है। सांसद बृजेंद्र हिसार के विकास को लेकर केंद्र से बड़े प्रोजेक्ट का पैसा लाने की योजना बनाएं हुए है। साथ ही किसानों और उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए काम करेंगे। यह बात चुनाव जीतने के बाद भाजपा प्रत्‍याशी बृजेंद्र ने कहीं। उन्‍होंने कहा रोजगार को बढ़ाने के साथ नहर पानी की समस्या को दूर करने पर ध्यान दिया जाएगा। इसको लेकर केंद्र व राज्य सरकार से बातचीत करेंगे। बृजेंद्र ने कहा वो हिसार में भी फार्म हाउस बनाकर लोगों के बीच रहेंगे।

 

स्टेट लेवल तक खेल चुके है क्रिकेट

1998 बैच के आइएएस रहे बृजेंद्र सिंह को बचपन से ही क्रिकेट का शोक था। वह स्कूल के समय में क्रिकेट खेलते और स्टेट लेवल तक मैच खेलकर आए। उसके अलावा स्पोट््र्स को फोलो करते है। बृजेंद्र को सिनेमा देखने का शौक है।

 

हिसार और हरियाणा के मध्य में नहीं रहे डीसी

हरियाणा सरकार में आइएएस कैडर मिलने के बाद वह प्रदेश के कोने के जिलों में डीसी के पद रहे है। जींद होम टाउन होने के कारण वहां वह डीसी नहीं लग सकते थे। इसके अलावा हिसार, रोहतक, भिवानी आदि मध्य जिलों में वह डीसी नहीं रहे। इसके बावजूद अब वह तीन जिलों को सुधारने के लिए काम करेंगे।

 

देश में नमो की मूवमेंट थी, लोगों ने नहीं देखा प्रत्याशी : दुष्यंत

पूर्व सांसद एवं जेजेपी नेता दुष्यंत चौटाला ने कहा कि देश में नमो की भारत में मूवमेंट थी। लोगों ने उसी कड़ी में भाजपा प्रत्याशी को वोट दिया। हिसार के लोगों ने प्रत्याशी को नहीं देखा। हार के बाद वह विशेष बातचीत में यह कह रहे थे। उन्होंने कहा कि उनको दो लाख 89 हजार से ज्यादा लोगों ने वोट दिया है। वह उनकी इज्जत करते है। हार-जीत लगी रहती है। इसलिए वह शुक्रवार को फिर से मैदान में होंगे। उन्होंने कहा कि हार का ठिकड़ा किसी पर नहीं फोड़ा जा सकता। उनको परिणाम आने के बाद अब नया टास्क मिला है। वह दोबारा से जनता के बीच जाकर उनके कामों को करवाएंगे।

 

मोदी की लहर में झूठ आया पसंद : भव्य

कांग्रेस के उम्मीदवार रहे भव्य बिश्नोई ने हार के कहा कि मोदी की लहर थी। लोगों ने मोदी का झूठ पसंद आया और उनको वोट दिया। आदमपुर के लोगों ने उनको वोट कम आए यह उनके लिए हैरानी वाली है। वह पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वह हिसार के परिवार के लोगों का फैसले का सम्मान करते हैं। आगे भी वह लोगों के बीच ही रहेंगे। ये हार हिसार की है। वह बीच में सेवा करने के लिए आए थे। काम करने के लिए संकल्प पत्र बनाया था लेकिन वह आगे भी बीच में रहेंगे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: manoj kumar