- दो दिन में अनुमानित शहर में फूलों का 50 लाख से अधिक का कारोबार, फूलों के रेट हुए दो गुणा

पवन सिरोवा, हिसार

दीपावली का फूलों से सजावट व पूजा की परंपरा का निर्वहन सेलिब्रेशन के साथ शुरू हो गया है। दीपोत्सव से एक दिन पहले छोटी दीपावली के आगमन पर शहर के गली, मोहल्ले और चौराहों के साथ-साथ शहर का कोना-कोना रोशनी से दमक उठा है। वहीं शहर में कलकत्ता और अजमेर से आए कमल के फूलों ने दीपावली के त्योहार में खुशबू के रंग भर दिए हैं। प्रदेश के अलग-अलग राज्यों से हिसार पहुंचे विभिन्न प्रकार के फूलों ने दीपावली से एक दिन पहले यानि छोटी दीपावली से ही घरों को अपनी खुशबू से महका दिया है। पूजा के लिए लोग फूल मार्केट से लेकर रेहड़ी व फड़ वालों तक से फूलों की खरीदारी कर रहे है। इस साल दीपावली पर शहर में दो दिन में 50 लाख से अधिक का फूलों का कारोबार होने का अनुमान है।

-----------------

दीपावली के अवसर पर फूलों के रेट हुए दोगुणा

दीपावली पर पूजा में फूलों का प्रयोग होता है। खासकर दीपावली पर कमल के फूल की मांग बढ़ जाती है। इसके अलावा गेंदा और गुलाब की भी पूजा के लिए काफी मांग रहती है। ऐसे में दीपावली पर फूलों की बढ़ी मांग के चलते रेट में भी तेजी से बढ़ोतरी होती है। ऐसे में इस बार विभिन्न प्रकार के फूलों के रेट दो गुणा से लेकर करीब 10 गुणा तक बढ़ गए हैं।

---------------

जानें फूलों के रेट में उछाल (डा. आंबेडकर फूल मार्केट एसोसिएशन प्रधान संजय चौहान के अनुसार)

फूल का नाम, किस जगह से आते हैं, पुराने रेट, दिवाली पर रेट

- कमल, कलकत्ता, अजमेर और दिल्ली, 50 रुपये प्रति पीस, 100 रुपये प्रति पीस

- देसी गुलाब, हरियाणा और दिल्ली, 80 से 100 रुपये प्रति किग्रा, 800 से एक हजार रुपये प्रति किग्रा

- गेंदा, दिल्ली और राजस्थान, 100 से 120 रुपये प्रति किग्रा, 400 रुपये प्रति किग्रा

- विदेशी गुलाब, दिल्ली, 20 रुपये प्रति पीस और 50 रुपये प्रति पीस

- अशोका पत्ती लड़ी, दिल्ली व हरियाणा, 10 रुपये प्रति लड़ी, 15 रुपये प्रति लड़ी

-----------

शहर में फूलों की कई वैरायटी आएंगी नजर

शहर में फूलों के रंगों की इस बार कई प्रकार की वैरायटी मार्केट में हैं। डा. आंबेडकर फूल मार्केट एसोसिएशन के प्रधान संजय चौहान ने बताया कि मार्केट में पहली बार दीपावली पर हिसार में गेंदा भी अलग अलग रंगों का नजर आएगा। इसके अलावा 108 पत्तियों का कमल का फूल भी लोग देश सकेंगे। जिसकी कीमत 500 रुपये से शुरु होगी। इसके अलावा इस बार देशी गुलाब भी मार्केट में काफी है।

--------------

शहर में यहां-यहां बिकते हैं फूल

- आर्य समाज मंदिर के सामने फूल मार्केट

- पारिजात चौक पर फूल मार्केट

- कैंप चौक पर क्रांतिमान पार्क के सामने

- रेहड़ी व फड़ संचालक भी कुछ जगह फूल बेचते है।

--------------------------

फूलों से सजावट की परंपरा प्राचीनकाल से ही रही है। हिसार में दिल्ली, राजस्थान, कलकत्ता और उत्तरप्रदेश के फूल आते हैं। अधिकांश फूल दिल्ली की गाजीपुरमंडी से ही हिसार में लाए जाते हैं। वे फूल कहां-कहां से इस मंडी में आते हैं, इसकी पूरी जानकारी तो हमें नहीं है लेकिन इस बार फूलों में नए रंगों की वैरायटी है। रेट भी दिवाली पर बढ़े हुए हैं। सर्वाधिक रेट देसी गुलाब के बढ़े हैं। इस बार 50 लाख के आसपास का अनुमानित फूल का कारोबार शहर में होगा।

- संजय चौहान, प्रधान, डा. आंबेडकर फूल मार्केट एसोसिएशन, हिसार।

Edited By: Jagran